कैसे पड़ोसी है आप, इन बातों से मेल खाता है आपका व्यवहार नहीं तो ऐसे लाएं बदलाव

हम जहां रहते हैं वहां एक माहौल होता है। और उसका असर हमारे सामाजिक जीवन,घर- परिवार पर पड़ता है। हम सभी को उस माहौल से तालमेल बिठाना पड़ता है। लेकिन आज के परिवेश में लोग बहुत कुछ भूलते जा रहे हैं। समाजशास्त्री अरस्तू ने ठीक ही कहा है, ‘मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है।’

जयपुर: हम जहां रहते हैं वहां एक माहौल होता है। और उसका असर हमारे सामाजिक जीवन,घर- परिवार पर पड़ता है। हम सभी को उस माहौल से तालमेल बिठाना पड़ता है। लेकिन आज के परिवेश में लोग बहुत कुछ भूलते जा रहे हैं। समाजशास्त्री अरस्तू ने ठीक ही कहा है, ‘मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है।’ समाज के अभाव में मनुष्य का सर्वांगीण विकास बिल्कुल संभव नहीं है। लेकिन इस बात को लोग भूलते जा रहे है। समाज में पड़ोसियों की भूमिका महत्वपूर्ण है। कुछ बातों को ध्यान में रखकर पड़ोसियों के साथ मधुर व्यवहार को कायम रख सकते है।कुछ बातों का ध्यान रखकर आप आज भी अपना सर्वागिंन विकास कर सकते हैँ। और अच्छे पड़ोंसी भी बन सकते हैं।

 

 

यह पढ़ें…शादी की पहली सालगिरह से पहले Priyanka Chopra ने निक को दिया ये GIFT

 

अच्छा पड़ोसी होना किस्मत की बात होती है, क्योंकि जब कोई मुसीबत होती है तो रिश्तेदार बाद में काम आते हैं सबसे पहले पड़ोसी ही काम आते हैं। आप के अच्छे व्यवहार से आप के पड़ोसी सदैव आप के बन सकते हैं। 21वीं सदी की इस दौड़ में जातीयता की भावना को दूर रख एक ही जाति ‘इंसान’ के सिद्धांत के आधार पर पड़ोसियों के साथ अपनापन बनाए रखें। धर्म के नाम पर भी किसी तरह का भेदभाव न करें। घरेलू बातों का आदान-प्रदान यथासंभव न करने का प्रयास करें। जानिए कैसे बने अच्छे पड़ोसी….

*आर्थिक मामलों में न तो पड़ोसियों को बड़ा या छोटा मानें और न ही स्वयं को असहाय मानकर पड़ोसियों से दूर रहें बल्कि मित्रवत व्यवहार रखें।

*जमीन-संबंधी छोटे-मोटे मामलों को नजरअंदाज करने का प्रयास करें। पड़ोसियों से जलन की भावना तो मन में बिल्कुल न आने दें।

*संकट तथा बीमारी आदि में समय-समय पर पड़ोसियों से कुशलक्षेम अवश्य पूछें। बच्चों के झगड़ों का निपटारा करने में खुद को न उलझाएं।

*रुपए-पैसे, घरेलू सामग्रियों एवं भोज्य-पदार्थों का आदान-प्रदान कम से कम करें। कभी-कभी चाय, नाश्ता आदि पर एक-दूसरे को बुलाकर घनिष्ठता बढ़ाएं।

 

 

यह पढ़ें…झटके में करोड़ों का दान! अब इसलिए हो रही पूरी दुनिया में इनकी चर्चा

 

महत्व
*
एक पडोसी हमारे जीवन में बहुत महत्व रखता है क्योकि उस पडोसी की बदौलत हमें हमारी प्रकार की समस्याओ से एक अच्छा साथी मिल जाता है। पड़ोसी चाहे हमारे परिवार का सदस्य नहीं होता, लेकिन वह हमारे घर के पास रहता है तो वह एक तरह से घर के मेंबर की तरह ही माना जाता है क्योकि केवल आपका पडोसी ही होता है जो की आपके घर पर बिना किसी रोक-टोक के आ जा सकता है अगर आपका और उनका रिश्ता अच्छा है तो इसीलिए एक अच्छा पडोसी बनने के लिए जरुरी है की आप अपने पडोसी के साथ प्यार से रहे।

*ऐसा कोई व्यक्ति न नहीं जिसे कभी न कभी किसी न किसी की जरुरत न पड़ती हो और हमारा पडोसी ही एक ऐसा व्यक्ति होता है जिसकी हमे सबसे ज्यादा जरुरत पड़ती है क्योकि वह व्यक्ति ही हर समय और सबसे जल्दी हमारे पास मौजूद मिल सकता है।

*हम लोगो को सबसे पहले उसकी बातो से परखते है और उसके व्यवहार से जानते है की वो कैसा व्यक्ति है इसीलिए एक अच्छा पडोसी बनने के लिए आपके लिए सबसे जरुरी है की आप अपना व्यवहार सही रखे यदि आप अपना व्यवहार सही रखते है तो एक पडोसी के साथ-2 आप एक अच्छा व्यक्ति भी बन सकते है।पडोसी ही हमारा एक ऐसा साथी होता है जो हमारे साथ ऐसे टाइम पर रह सकता है। इसीलिए  जरुरी है की आप अपने पड़ोसियों से कभी झगड़ा न करे यदि झगड़ा करते है तो इससे आपको ही हानि हो सकती है।

यह पढ़ें…महिला के पेट में थी ‘प्रेग्नेंट’ बेबी, पता चला तो डॉक्टरों के उड़ गए होश

 

 

*हमारे पडोसी ही ऐसे लोग होते है जिनकी हमें अधिकतर बातें पता होती है। इसीलिए एक अच्छा पडोसी बनने के लिए आपको ध्यान रखना है की आप अपने पड़ोसी किसी भी बात को इधर-उधर न करे ऐसा करने से आपके रिश्ते को खराब करने का भय रहता है।

*कालोनी में नए आए हैं, तो पड़ोसी के समक्ष अपनी अकड़ू इमेज न बनाएं। नई जगह पर अपनी पहचान बनाएं। इस के लिए आप को स्वयं पहल करनी होगी। यकीन मानिए आप मुसकरा कर सामने वाले से बात करेंगे, तो सामने वाला भी आप के साथ वैसे ही पेश आएगा।

*पार्किंग ऐटिकेट्स से भी जरूर वाकिफ हों। गाड़ी, स्कूटर या बाइक ऐसे पार्क करें कि किसी का रास्ता ब्लौक न हो। किसी के घर के आगे गाड़ी पार्क न करें। पार्किंग ऐटिकेट्स से वाकिफ होने से पासपड़ोस में झगड़े से बच सकते हैं।

*घर का कूड़ाकरकट डस्टबिन में डालें। यहांवहां न फेंकें। यहांवहां बिखरा कूड़ा झगड़े का कारण बन सकता है। इसी तरह कालोनी में बिखरे कूड़े को नजरअंदाज न करें। उसे उठा कर डस्टबिन में डालें। आप को देख कर दूसरे लोग भी ऐसा करेंगे यानी कालोनी साफसुथरी रहेगी।