Top

महिला के पेट में थी 'प्रेग्नेंट' बेबी, पता चला तो डॉक्टरों के उड़ गए होश

अभी तक आपने तो कई अजूबे सुने होंगे, लेकिन इस अजूबे के बारे में जानकर चौंक जाएंगे। एक महिला ने 'प्रेग्नेंट' बेबी को जन्म दिया है। जन्म के ठीक एक दिन बाद ही बेबी गर्ल का इमरजेंसी सी सेक्शन किया गया।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 27 Nov 2019 12:13 PM GMT

महिला के पेट में थी प्रेग्नेंट बेबी, पता चला तो डॉक्टरों के उड़ गए होश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: अभी तक आपने तो कई अजूबे सुने होंगे, लेकिन इस अजूबे के बारे में जानकर चौंक जाएंगे। एक महिला ने 'प्रेग्नेंट' बेबी को जन्म दिया है। जन्म के ठीक एक दिन बाद ही बेबी गर्ल का इमरजेंसी सी सेक्शन किया गया। यह एक दुर्लभ मेडिकल कंडीशन की वजह से ऐसा हुआ है।

यह मामला कोलंबिया के बरानकिला की रहने वाली महिला का है। इस महिला का नाम मोनिका वेगा है। जन्म के बाद उन्होंने अपनी बेबी का नाम इत्जामरा रखा है। बच्ची की तबीयत अब ठीक हो रही है।

यह भी पढ़ें...बॉलीवुड ये बहनें: एक ने किया कमाल तो एक का हाल हुआ बेहाल

एक विदेशी मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मोनिका की डिलीवरी से पहले ही डॉक्टरों को अल्ट्रासाउंड से दौरान दुर्लभ मेडिकल कंडीशन के बारे में पता चल गया था। अल्ट्रासाउंड से पता चला था कि महिला के दो umbilical cords हैं।

डॉक्टरों को पता चला कि दो umbilical cords जुड़वां बच्चों के नहीं हैं। दरअसल बच्ची ने एक अविकसित भ्रूण को अपने गर्भ में अवशोषित कर लिया था।

इस बेहद दुर्लभ मेडिकल कंडीशन को 'fetus in fetu' या फिर परजीवी जुड़वां (parasitic twin) कहा जाता है। परजीवी जुड़वां बच्चे कभी भी पूरी तरह विकसित नहीं हो पाते हैं।

यह भी पढ़ें...इस एक्ट्रेस का बड़ा खुलासा, डायरेक्टर ने नाभि पर गिराया था…

महिलाएं इस कंडीशन की शिकार तब बनती हैं जब एक जुड़वां बच्चे का विकास गर्भावस्था के दौरान रुक जाता है, लेकिन वह पूरी तरह विकसित होने वाले बच्चे से जुड़ा रहता है।

इससे पहले डॉक्टर्स ने मोनिका को बता दिया था कि उनकी डिलीवरी तुरंत करनी होगी। डॉक्टरों को डर था कि परजीवी जुड़वां बढ़ सकता है और बेबी के अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है।

यह भी पढ़ें...राखी सावंत के साथ बंद कमरे में! ये क्या करते थे डायरेक्टर-प्रोड्यूसर

बेबी इत्जामरा के जन्म के 24 घंटे बाद ही डॉक्टरों ने सी सेक्शन सर्जरी की। डॉक्टरों ने पाया की बेबी के पेट में परजीवी जुड़वां मौजूद है। हालांकि, परजीवी जुड़वां का दिल या दिमाग विकसित नहीं हुआ था।

डॉक्टरों के मुताबिक अब बेबी इत्जामरा को कोई दिक्कत नहीं होगी। ब्रिटेन के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के मुताबिक, परजीवी जुड़वां का मामला 5 लाख बच्चों की डिलीवरी में एक बार ही सामने आया है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story