Top

बच्चों के लिए बड़ी खबरः जरूर घूमें इंडिया टॉय फेयर, बस करना होगा ये

वास्तव में बच्चों खासकर किशोरावस्था तक खिलौनों का बहुत अधिक और वास्तविक महत्व है। बच्चों की दुनिया में खिलौने एक हकीकत होते हैं जो उनमें सपने भरते हैं।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 28 Feb 2021 8:50 AM GMT

बच्चों के लिए बड़ी खबरः जरूर घूमें इंडिया टॉय फेयर, बस करना होगा ये
X
बच्चों के लिए बड़ी खबरः जरूर घूमें इंडिया टॉय फेयर, बस करना होगा ये (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रामकृष्ण वाजपेयी

लखनऊ: जब हम कोई खिलौना बनाते हैं तो हम एक बाल मन को गढ़ते हैं, बचपन के असीम उल्लास को गढ़ते हैं, उसमें सपने भरते हैं। यही उल्लास हमारे कल का निर्माण करेगा। मुझे खुशी है कि आज हमारा देश इस ज़िम्मेदारी को समझ रहा है। हमारे ये प्रयास आत्मनिर्भर भारत को वही स्फूर्ति देंगे, जो स्फूर्ति बचपन में एक नई दुनिया रचती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह बात इंडिया टॉय फेयर 2021 के उद्घाटन अवसर पर कही थी।

ये भी पढ़ें:खतरे में दुनिया: आइसबर्ग के लाखों जिंदगियां होंगी खत्म, वैज्ञानिकों को डर

बच्चों की दुनिया में खिलौने एक हकीकत होते हैं

वास्तव में बच्चों खासकर किशोरावस्था तक खिलौनों का बहुत अधिक और वास्तविक महत्व है। बच्चों की दुनिया में खिलौने एक हकीकत होते हैं जो उनमें सपने भरते हैं। उन्हें नए कल के लिए तैयार करते हैं। और ऐसे में मेलों में बच्चों की अधिक से अधिक भागीदारी होनी चाहिए ताकि बच्चों के लिए खिलौने गढ़ने वाले इकोलॉजी और साइकोलॉजी के अनुरूप खिलौनों को गढ़ सकें।

प्रधानमंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि खिलौने ऐसे होने चाहिए जो न सिर्फ रिसाइकल हो सकें बल्कि उनमें प्रयुक्त सामग्री भी ऐसी होनी चाहिए बच्चों के लिए हानिकारक न हो।

भारत के खिलौना उद्योग को मंच प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार की ओर से 27 फरवरी से 2 मार्च तक वर्चुअल टॉय फेयर (Toy Fair) आयोजित किया जा रहा है। इस फेयर के लिए https://surveyheart.com/ की ओर से स्कूलों के लिए बकायदा पंजीकरण अभियान चलाया गया जिसकी अंतिम तारीख 25 फरवरी थी।

देश भर के स्कूलों के बच्चे इस ट्रेड फेयर में अपनी वर्चुअल उपस्थिति जरूर दर्ज कराएं

इस फॉर्म को फिल करके सभी से अंतिम तिथि से पहले भेजने का अनुरोध किया गया। इसके लिए कहा गया कि सभी शिक्षक संकुल अपने संकुल क्षेत्र के समस्त विद्यालय से यह फॉर्म भरवाएं। रजिस्ट्रेशन करवाएं और इस को भेजें। सरकार का इस बात पर जोर है कि देश भर के स्कूलों के बच्चे इस ट्रेड फेयर में अपनी वर्चुअल उपस्थिति जरूर दर्ज कराएं।

India Toy Fair India Toy Fair (PC: social media)

उत्तर प्रदेश के महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय करन आनंद ने कहा

उत्तर प्रदेश के महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय करन आनंद ने सभी जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र लिखकर कहा है कि प्रत्येक ब्लाक के समस्त प्राथमिक, उच्च प्राथमिक स्कूलों के प्रधानाध्यापक शिक्षक इस फेयर में वर्चुअल मोड में बच्चों की उपस्थिति सुनिश्चित कराएं। यह भी कहा गया है कि शिक्षकों, शिक्षक प्रशिक्षकों के द्वारा तैयार शैक्षिक खिलौनों से सम्बंधित एक से दो मिनट के वीडियो पोस्ट कराना सुनिश्चित कराएं। इसके अलावा इस फेयर से प्राप्त अनुभवों के आधार पर प्रदेश का शैक्षिक माहौल बनाने के संबंध में रिपोर्ट देने को भी कहा गया है।

इस ट्रेड फेयर की प्रदर्शनी में कारीगरों और स्कूलों से लेकर बहुराष्ट्रीय कंपनियाँ तक, 30 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से 1,000 से अधिक Exhibitors हिस्सा ले रहे हैं। ये एक ऐसा मंच होने जा रहा है जहां खिलौनों के designs, innovation, technology से लेकर मार्केटिंग पैकेजिंग तक चर्चा परिचर्चा भी होगी और लोग अपने अनुभव भी साझा करेंगे।

ये भी पढ़ें:पुडुचेरी में गृहमंत्री अमित शाह ने राहुल गांधी पर बोला जोरदार हमला, कही ये बड़ी बात

टॉय फेयर 2021 में भारत में ऑनलाइन गेमिंग उद्योग और ई-स्पोर्ट उद्योग के ईको सिस्टम के बारे में जानने का अवसर होगा। मुझे ये देखकर भी अच्छा लगा कि यहाँ पर बच्चों के लिए ढेरों गतिविधियां भी रखी गई हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story