Top

चैटिंग ऐप को गूगल ने प्ले स्टोर से हटाया: लाखों यूजर्स को लगा तगड़ा झटका

ToTok कंपनी ने कहा कि यह ऐप प्ले स्टोर और ऐपल स्टोर से हटा दी गई है, लेकिन जिन फोन में यह पहले से इंस्टॉल है वह यूज़र्स इसका इस्तेमाल कर सकता है। कंपनी ने ऐप के स्टोर से हटने की वजह टेक्निकल दिक्क्त बताया है।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 25 Dec 2019 11:48 AM GMT

चैटिंग ऐप को गूगल ने प्ले स्टोर से हटाया: लाखों यूजर्स को लगा तगड़ा झटका
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: जासूसी को लेकर आ रही खबरों के बाद गूगल और ऐपल ने ToTok ऐप को अपने स्टोर्स से हटा दिया है। बता दें कि यूएई (UAE) में टूटॉक नाम की एक चैटिंग ऐप बहुत फेमस है।

एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा किया गया है कि इसका इस्तेमाल यूएई सरकार द्वारा बड़े पैमाने पर निगरानी रखने के लिए एक जासूसी डिवाइस के तौर पर किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें—काम की खबर! कब और कहां पैदा हुए थे माता-पिता, जनगणना में पूछे जायेंगे सवाल

गौरतलब है कि टूटॉक का इस्तेमाल संयुक्त अरब अमीरात की सरकार द्वारा किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि जिन्होंने भी इसे अपने फोन पर इंस्टॉल किया है उनकी बातचीत, गतिविधि, रिश्ते, अपॉइंटमेंट, आवाज, फोटो पर सरकार इस चैटिंग ऐप के माध्यम से नजर रखी जा रही है।

लाखों लोगों ने किया है डाउनलोड

खुफिया एजेंसी के मुताबिक से यह ऐप जो कि टेलीग्राम और सिग्नल (ऐप) की तरह काम करता है, इसे मिडिल ईस्ट, यूरोप, एशिया, अफ्रीका और उत्तरी अमेरिका में एंड्रॉयड और आईओएस डिवाइस पर लाखों बार डाउनलोड किया गया है। पिछले सप्ताह अमेरिका में सर्वाधिक डाउनलोड किए जाने वाले ऐप्स में से एक टूटॉक बन गई है।

ये भी पढ़ें—मुर्दों को पेंशन दे रही सरकार, गजब है-ऐसे भी होता है क्या…

यहां जानें एप के बारे में

एक जांच में पाया गया है कि टूटॉक नामक ऐप को ब्रीज होल्डिंग नाम की एक कंपनी ने बनाया है जो अबू धाबी स्थित साइबर इंटेलिजेंस और हैकिंग कंपनी डार्क मैटर के साथ जुड़ी हुई है। डार्क मैटर पहले से ही संभावित साइबर क्राइम के चलते एफबीआई की जांच के घेरे में है।

कंपनी ने कही यह बात

ToTok कंपनी ने कहा कि यह ऐप प्ले स्टोर और ऐपल स्टोर से हटा दी गई है, लेकिन जिन फोन में यह पहले से इंस्टॉल है वह यूज़र्स इसका इस्तेमाल कर सकता है। कंपनी ने ऐप के स्टोर से हटने की वजह टेक्निकल दिक्क्त बताया है।

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story