Top

WhatsApp को टक्करः भारत का मैसेजिंग ऐप ‘Sandes’ जल्द लाॅन्च, जानें खासियत

जल्द ही भारत में नया मैसेजिंग ऐप ‘Sandes’ दस्तक देने वाला है। इसकी टेस्टिंग सरकारी अधिकारियों द्वारा शुरू कर दी गई है।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 10 Feb 2021 4:55 AM GMT

WhatsApp को टक्करः भारत का मैसेजिंग ऐप ‘Sandes’ जल्द लाॅन्च, जानें खासियत
X
WhatsApp को देगा तगड़ा टक्कर, जल्द आ रहा भारत का मैसेजिंग ऐप ‘Sandes’
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: जल्द ही भारत में नया मैसेजिंग ऐप ‘Sandes’ दस्तक देने वाला है। इसकी टेस्टिंग सरकारी अधिकारियों द्वारा शुरू कर दी गई है। जिसके बाद किसी भी भारतीय को दूसरे देशों के किसी ऐप को चलाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

भारत को अपना मैसेजिंग ऐप

Sandes’ एक हिंदी शब्द है। भारत सरकार ने इस ऐप को बनाने की बात पिछले साल की कर दी थी। अभी फिलहार ये टेस्टिंग फेज़ में है। जिसकी तैयारी लगभाग पूरी हो चुकी है। सबसे पहले इसका अस्तेमाल सरकारी अधिकारियों द्वारा किया जाएगा , जिसके बाद जल्द इसे सभी के लिए पेश कर दिया जाएगा।

यहां मिलेगी जानकारी

अगर आप gims.gov.in पेज पर जायेंगे तो आपको इसके बारे में जानकारी मिल जाएगी। इस साईट पर आप sandes’ को देख सकते हैं। ये ऐप उन सभी फीचर्स के साथ आती है, जो कि किसी भी इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप में दी जाती है। इसमें यूज़र्स वॉइस और डेटा जैसे फीचर्स का इस्तेमाल कर सकेंगे।

केंद्र इस ऐप के बैंकएंड को संभालती

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की शाखा राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र इस ऐप के बैंकएंड को संभालती है। खबरों की माने तो इसे एंड्रॉयड और iOS दोनों प्लैटफॉर्म के लिए उपलब्ध कराया गया है। अगर यूज़र्स ऐप को LDAP द्वारा साइन-इन, OTP से साइन-इन और sandes web के ज़रिए साइन-इन करने की कोशिश करते हैं तो उन्हें एक पॉप-अप मिलता है, जिसमें लिखा है, ‘ये ऑथेंटिकेशन तरीका अधिकृत सरकारी अधिकारियों के लिए लागू है।

ये भी पढ़े.....मुसीबत में WhatsApp! भारतीयों ने दिया झटका, इस कंपनी ने जीता लोगों का दिल

वॉट्सऐप ने दी ये सफाई

पिछले महीने सरकार ने वॉट्सऐप से उसकी सर्विस और प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव को वापस लेने की बात कही थी, जो कि खास तौर पर भारतीय यूज़र्स के लिए किया जा रहा था। केंद्रीय सरकार ने दिल्ली उच्च न्यायालय से कहा था कि वॉट्सऐप Privacy Policy को लेकर भारतीय और यूरोपीय यूज़र्स से अलग अलग व्यवहार उनके लिए चिंता का विषय है. जिसके बाद में बढ़कर 15 मई किया गया। जिसके बाद वॉट्सऐप ने अपनी सफाई में बताया की फेसबुक और वॉट्सऐप यूज़र्स की निजी बातों को नहीं देख सकते हैं। यह बिलकुल सेफ होती है।

ये भी पढ़ें : Xiaomi की शानदार टीवी: दमदार हैं फीचर्स, जानिए क्या है कीमत

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Monika

Monika

Next Story