Top

Blue Tick चाहिएः ऐसे Verified कराएं Twitter-Facebook, देने होंगे इतने रुपये

अगर आप भी अपना अपना सोशल मीडिया अकाउंट वैरिफाइड कराना चाहते हैं तो ये खबर आपके काम की है। Facebook, Instagram Twitter पर Blue Tick मिलने से यूजर का अकाउंट वेरिफाई हो जाता है।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 31 Jan 2021 7:41 AM GMT

Blue Tick चाहिएः ऐसे Verified कराएं Twitter-Facebook, देने होंगे इतने रुपये
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: सोशल मीडिया यूजर्स कोई ब्लू टिक की चाह जरूर होती है। ब्लू टिक का मतलब वैरिफाइड अकाउंट। ऐसे में अगर आप भी अपना अपना सोशल मीडिया अकाउंट वैरिफाइड कराना चाहते हैं तो ये खबर आपके काम की है। बता दें कि Facebook, Instagram और Twitter पर Blue Tick मिलने से यूजर का अकाउंट वेरिफाई हो जाता है।

सोशल मीडिया अकांउट वैरिफाइड कराए ऐसेः

दरअसल, यूजर्स अपने सोशल मीडिया अकाउंट जैसे ट्विटर-फेसबुक और इंस्टाग्राम को वेरिफाइड तो करना चाहता हैं, लेकिन उन्हें इस बात की जानकारी नहीं होती कि अकाउंट पर ब्लू टिक कैसे लिया जाए। ऐसे में ब्लू टिक के लिए कुछ कंपनियां यूजर से अच्छा खासा पैसा लेती हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक़, भारत में Blue Tick के लिए यूजर्स को 30 हजार से लेकर 1 लाख रुपए तक खर्च करने पड़ सकते हैं।

ये भी पढ़ेंः सबसे महंगा फूडः कीमत जान उड़ जाएगें होश, गजब के हैं फायदे

Blue Tick दिलवा रही ये कंपनियां और साईट

ब्लू टिक के लिए अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देशों में सोशल मीडिया यूजर्स को भारी भरकम फीस देनी पड़ती है। रिपोर्ट के अनुसार, mpsocial.com, blackhatworld.com और swapd.co जैसी साइट ब्लू टिक देती हैं, जिसके लिए वे काफी ज्यादा कीमत लेते हैं। बता दें कि मार्केट में ऐसी कई डिजिटल मार्केटिंग एजेंसियां हैं, जो यूजर्स को ब्लू टिक दिलाने की सर्विस दे रही हैं।

Social Media Apps Online Data Theft Whatsapp Signal Telegram Privacy Policy

Blue Tick पाने के लिए भारत में देने पड़ते हैं 1 लाख रुपए तक

यहां ये बता दें कि Blue Tick क्या होता है और इसके फायदे क्या हैं? दरअसल, ब्लू टिक मिलने का मतलब होता कि सोशल अकाउंट वैरिफाईड है। यानि खाता फर्जी नहीं है इसे Verified किया है। इसके लिए एजेंसी वैरिफिकेशन सर्विस उपलब्ध करवा रही है। सोशल मीडिया पर Boosting Tools का इस्तेमाल करके फॉलोअर्स की संख्या बढ़ाते हैं। इसके जरिए अकाउंट या अकाउंट से जुड़े पोस्ट बूस्ट किए जाते हैं. कंपनियां इसके लिए मोटी फीस लेती हैं।

ये भी पढ़ें- Flipkart Quiz: ग्राहकों के लिए शानदार मौका, 5 सवालों के दें जवाब, जीते ढेरो इनाम

इन लोगों को आसानी से मिलते हैं Blue Tick

ब्लू टिक के लिए यूजर्स अकाउंट सही और एक्टिव होना चाहिए। फेसबुक, इंटाग्राम, ट्वीटर जैसी कंपनियां आमतौर पर सरकारी संगठनों, कंपनियों, खास व्यक्तियों, राजनेताओं, अभिनेताओं, बिजनेस से जुड़े खास व्यक्तियों, न्यूज कंपनियों और राजनेताओं को ही आसानी से ब्लू टिक देती हैं या उनका अकाउंट वेरिफाई करती हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story