Top

Google पर लगा ये गंभीर आरोप, जानकर उड़ जाएंगे आपके होश

अमेरिका की कंपनी गूगल पर एक यूजर्स ने आरोप लगाया है कि कंपनी यूजर्स की गुप्त जानकारियों को हासिल करती है। इसके साथ यूजर्स ने यह बताया कि गूगल क्रोम के ब्राउजर इनकॉग्निटो मोड के दौरान भी यूजर्स का डाटा चुराया जाता है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 15 March 2021 2:03 PM GMT

Google पर लगा ये गंभीर आरोप, जानकर उड़ जाएंगे आपके होश
X
Google पर लगा ये गंभीर आरोप, जानकर उड़ जाएंगे आपके होश photos (social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : अमेरिका कंपनी गूगल पर इनकॉग्निटो मोड के जरिए यूजर्स के डाटा चुराने का आरोप दर्ज किया गया है। अमेरिका के एक यूजर्स ने गूगल कंपनी के खिलाफ केस दर्ज किया था जिसमें उसने बताया था कि गूगल कंपनी यूजर्स के गुप्त डेटा को चुराती है। जिस पर अमेरिका की अदालत में गूगल के खिलाफ सुनवाई हुई है। इसके साथ कंपनी पर 36,370 रुपये का जुर्माना लग सकता है।

गूगल के इनकॉग्निटो मोड पर यूजर्स का किया जाता डेटा इकठ्ठा

अमेरिका की कंपनी गूगल पर एक यूजर्स ने आरोप लगाया है कि कंपनी यूजर्स की गुप्त जानकारियों को हासिल करती है। इसके साथ यूजर्स ने यह बताया कि गूगल क्रोम के ब्राउजर इनकॉग्निटो मोड के दौरान भी यूजर्स का डाटा चुराया जाता है। साथ ही उनके डाटा को ट्रैक करता है। बताया जा रहा कि गूगल के इनकॉग्निटो मोड पर भी यूजर्स का डेटा इकठ्ठा किया जाता है।

अपने ऊपर लगने वाले इस आरोप को गूगल ने बताया गलत बताया

गूगल पर यूजर्स का डाटा चुराने का आरोप लगाया गया है। अब इस मामले पर कोर्ट सुनवाई कर रही है। आपको बता दें कि कैलिफोर्निया के जज ने इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी और कहा कि गूगल ने यूजर्स से इस बात को छुपाया है की वह इनकॉग्निटो मोड पर भी यूजर्स का डेटा इकठ्ठा करता है। इसके बाद गूगल ने अपने ऊपर लगने वाले इस आरोप को गलत बताया है।

Incognito mode

ये भी पढ़े....रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी: रेलवे ने किया ये बड़ा एलान, चलेंगी ये सभी ट्रेनें

गूगल ने बताया यह सच

यूजर्स का डेटा चुराने पर गूगल ने कहा कि इनकॉग्निटो मोड यूजर्स के ब्राउजर पर बिना डेटा को इकठ्ठा किए बगैर इंटरनेट ब्राउज को चुनने का ऑप्शन दिया गया है। इसके साथ गूगल कंपनी ने बताया कि जब कोई यूजर्स बार - बार इनकॉग्निटो मोड को खोलता है तो इस दौरान वेबसाइट पर यूजर्स की ब्राउजिंग एक्टिविज की सारी जानकारी इकट्ठी हो जाती है।

ये भी पढ़े....बंगाल: ममता बनर्जी के चुनाव लड़ने पर लग सकती है रोक, जानें पूरा मामला

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story