Top

WhatsApp में बड़ी खामी, इन मुसीबत में फंस सकते हैं आप, हो जाएं सावधान

वॉट्सऐप पिछले कुछ समय से अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर विवादों में बनी हुई है। काफी विवादों के बाद भले वॉट्सऐप ने यूज़र्स को अपनी शर्तों को मानने के लिए तय समय की अवधि बढ़ा दी है लेकिन अब भी यूज़र्स के मन में कई शिकायतें हैं।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 19 Jan 2021 6:47 AM GMT

WhatsApp में बड़ी खामी, इन मुसीबत में फंस सकते हैं आप, हो जाएं सावधान
X
WhatsApp ने बढ़ाई मुसीबत, स्पैम और साइबर अटैक में फंस सकते है आप
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: वॉट्सऐप पिछले कुछ समय से अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर विवादों में बनी हुई है। काफी विवादों के बाद भले वॉट्सऐप ने यूज़र्स को अपनी शर्तों को मानने के लिए तय समय की अवधि बढ़ा दी है लेकिन अब भी यूज़र्स के मन में कई शिकायतें हैं।

विवादों में फंसा वॉट्सऐप

आपको बता दें, वॉट्सऐप अब एक और विवाद में घिर चूका है। खबरों की माने तो वॉट्सऐप अब पब्लिक सर्च में यूजर के प्राइवेट नंबर्स की इंडेक्सिंग कर रहा है। अपनी प्राइवेसी पॉलिसी बदलावों को लेकर वॉट्सऐप को ना केवल भारत बल्कि विदेशों में भी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है।

यूज़र्स के नंबर गूगल सर्च पर

इसी बीच ये खुलासा हुआ कि यूज़र्स के नंबर गूगल सर्च में वॉट्सऐप Web URL के रिजल्ट के रूप में मौजूद हैं। इसका मतलब ये कि वह सभी लोग जो अपने PC पर वॉट्सऐप Web इस्तेमाल कर रहे है उनका कॉन्टैक्ट पब्लिकली गूगल सर्च स्क्रोल में आ सकता है।

ऐसे हो सकता है मिसयूज

ये ना सिर्फ आपका नंबर गूगल सर्च पर दिखेगा बल्कि इससे यूज़र्स के स्पैम और साइबर अटैक जैसे झांसे में फंसने का जोखिम रहता है। भारत में स्मैकर द्वारा वॉट्सऐप OTP URL का इस्तेमाल कर लोगों को ऑनलाइन ठगी का शिकार बना रहा है। वॉट्सऐप OTP URL को शंशोधित करना आसान है। जिसके जरिए स्कैमर द्वारा वित्तीय घोटाले, ब्लैकमेल और कई अन्य नापाक गतिविधियों को अंजाम दिया जा सकता है।

ये भी पढ़ें : व्हाट्सऐप लाया नया फीचर्स, Read Later फीचर्स से होंगे ये बदलाव

सिक्योरिटी रिसर्चर ने किया कंफर्म

इंडिपेंडेंट साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर राजशेखर राजाहरिया ने ये कंफर्म किया है कि गूगल पर पब्लिक नंबर की लिस्टिंग मौजूद है। जिसके चलते किसी भी यूजर को आपके कॉन्टैक्ट का एक्सेस मिल सकता है। उन्होंने यह दावा किया कि वॉट्सऐप गूगल के लिंक को इंडेक्स न करने वाले इंस्ट्रक्शन के लिए ऑटोमेटेड इंस्ट्रक्शन फाइल का इस्तेमाल कर रहा है।

ये भी पढ़ें : वाट्सएप प्राइवेसी लीक करता है या नहीं, इस रिपोर्ट को पढ़कर आप खुद जान जाएंगे

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Monika

Monika

Next Story