22 बागी विधायकों पर बड़ा सवाल:कांग्रेस ने सिर्फ 6 MLAs के इस्तीफे क्यों किये स्वीकार

22 विधायकों ने होली के दौरान कांग्रेस छोड़ते हुए इस्तीफा दे दिया। इसके बाद कहा गया कि इन विधायकों को भाजपा ने बेंगलुरु के एक रिजार्ट में छिपा दिया। जिनसे मुलाक़ात को लेकर दिग्विजय सिंह अड़े हुए हैं।

Congress Accept only 6 Resignation out of 22 rebel MLAs

दिल्ली: मध्य प्रदेश की सियासत दिन पर दिन गरमाती जा रही है। सिंधिया समेत 22 कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे से राज्य में संकट में आई कमलनाथ सरकार के फ्लोर टेस्ट को लेकर अब घमासान मच गया है। विधानसभा स्थगित होने के चलते भाजपा ये मामला लेकर सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गयी। कोर्ट ने एमपी में फ्लोर टेस्ट की मांग वाली याचिका पर सुनवाई हो रही है। वहीं कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह पार्टी के बागी विधायकों से मिलने बेंगलुरु तक पहुंच गये, हालंकि उन्हें मिलने नहीं दिया गया। इन 22 विधायकों को इस्तीफे के बाद से ही पर्दे के पीछे रखा गया लेकिन सवाल ये है कि ये विधायक आखिर फ्लोर टेस्ट में किसका साथ देंगे?

22 में से 6 विधायकों के ही इस्तीफे कांग्रेस ने स्वीकार किये:

22 विधायकों ने होली के दौरान कांग्रेस छोड़ते हुए इस्तीफा दे दिया। इसके बाद कहा गया कि इन विधायकों को भाजपा ने बेंगलुरु के एक रिजार्ट में छिपा दिया। जिनसे मुलाक़ात को लेकर दिग्विजय सिंह अड़े हुए हैं। उनका आरोप है कि 5 विधायकों से उनकी बात हुई है। विधायकों के फोन छीन लिए गये हैं ताकि वो पार्टी से सम्पर्क न कर सके।

ये भी पढ़ें: फ्लोर टेस्ट पर आमने-सामने कमलनाथ-शिवराज, बागी विधायकों पर उठे ये सवाल

लेकिन ध्यान देने वाली बात ये हैं कि पार्टी ने अभी तक इन विधायकों के इस्तीफे मंजूर ही नहीं किये हैं। दरअसल, कांग्रेस ने 22 में से सिर्फ 6 विधायकों के इस्तीफे ही स्वीकार किये। अन्य के इस्तीफे क्यों नहीं स्वीकारे गये इस बारे में कांग्रेस की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी ने बताया है। उनके मुताबिक, जिन 6 विधायकों के इस्तीफों को मंजूरी मिली, उन्हें पास कुछ मंत्रालय थे। वहीं बागी विधायकों को लेकर कांग्रेस ने मांग करी कि विधायकों को वापस लाया जाएँ।

ये भी पढ़ें: कर्मचारियों को मिलेगा 74 हजार बोनस, कोरोना की वजह से लिया गया ये फैसला

आखिर बागी विधायक किसके साथ:

बड़ा सवाल ये हैं कि ये बागी विधायक किसके साथ हैं। वैसे तो इन्होने पार्टी छोड़ दी है और सूत्रों के मुताबिक, भाजपा के साथ चले गये हैं लेकिन क्या फ्लोर टेस्ट के दौरान ये वापस कांग्रेस में वापसी कर सकते हैं। दिग्विजय सिंह जिस कदर इनसे मिलने को लेकर अड़े हैं, उससे स्पष्ट हैं कि विधायकों से मुलाक़ात के बाद पासा पलट सकता है और वे कांग्रेस के पक्ष में आ सकते हैं। हालांकि एस अटकलें लग रही हैं कि ये विधायक भाजपा के समर्थन में हैं और ऐसे में कमलनाथ सरकार गिरने की सम्भावना अधिक बढ़ गयी है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App