Top

भारत में कोरोना का टूटा रिकॉर्ड: 24 घंटों में 15 मौतें और संक्रमण के 502 नए मामले

भारत में कोरोना वायरस की स्थिति खराब होती जा रही है। बीते 24 घंटों में देश ने अपना ही रिकॉर्ड तोडा है। यहां एक दिन में अब तक की सबसे ज्यादा मौते, यानी 15 लोगों की जान चली गयी। वहीं केवल शुक्रवार को 500 से ज्यादा कोरोना संक्रमित लोगों के मामले सामने आये। कोरोना मरीजों का आंकड़ा 2500 पार हो चुका है।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 4 April 2020 3:58 AM GMT

भारत में कोरोना का टूटा रिकॉर्ड: 24 घंटों में 15 मौतें और संक्रमण के 502 नए मामले
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस की स्थिति खराब होती जा रही है। बीते 24 घंटों में देश ने अपना ही रिकॉर्ड तोडा है। यहां एक दिन में अब तक की सबसे ज्यादा मौते, यानी 15 लोगों की जान चली गयी। वहीं केवल शुक्रवार को 500 से ज्यादा कोरोना संक्रमित लोगों के मामले सामने आये। कोरोना मरीजों का आंकड़ा 2500 पार हो चुका है।

एक दिन में सबसे ज्यादा नए कोरोना केस आये सामने

वैसे तो भारत में लगातार कोरोना संक्रमितों में बढ़ोतरी हो रही है लेकिन लेकिन शुक्रवार को 500 से ज्यादा नए कोरोना मरीजों के मामले सामने आए। हलांकि ये गुरूवार के मुकाबले ये आंकड़ा कम है। दरअसल, बीते गुरूवार को 544 नए कोरोना संक्रमित पाए गए थे तो वहीं अगले ही दिन 502 केस सामने आये । ध्यान दें कि इसमें से ज्यादातर यानी कम से कम 300 के आसपास तबलीगी जमात से जुड़े लोग हैं।

ये भी पढेंःजज्बे को सलाम: हमला होने के बाद भी काम पर पहुंचे डॉक्टर, कोरोना से लड़ रहे जंग

कोरोना से होगा इलाज: इस देश को मिली कामयाबी, अब पुराने मरीज आएंगे काम

24 घंटों में 15 मौतें:

भारत की अब तक की सबसे भयावर स्थिति शुक्रवार को रही,जब एक ही दिन में कोरोना की चपेट में आने से 15 लोगों की मौत हो गयी। इसमें महाराष्ट्र में इस वायरस से 3, जबकि दिल्ली और तेलंगाना में 2-2 लोगों की मौत हुई है। आंध्र प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, हरियाणा और कर्नाक में 1-1 कोरोना पीड़ितों के मौत की खबर है।

ये भी पढेंःजमात ने खड़ी कर दी भारी मुसीबत, अब लंबा खिंच सकता है कोरोना का कहर

अचानक बढ़े कोरोना मरीजों की वजह है तबलीगी जमात:

बता दें कि बीते 3 से 4 दिनों में कोरोना मरीजों की संख्या में अचानक बड़े अंतर् से इजाफा हुआ, इसकी वजह तबलीगी जमात है। दरअसल दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के मरकज में शामिल लोग भारत के अलग अलग हिस्सों में पहुंचे। मरकज में कई विदेशी शामिल हुए थे, जिनके कारण जमात में शामिल लोग कोरोना संक्रमित हुए लेकिन आइसोलेशन में आने की बजाय और जांच कराने की बजाय ये छुप गए और अब इनकी तलाश के साथ ही कोरोना का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है।

ये भी पढेंः तबलीगी जमाती का निशाना यूपी: एक के बाद एक मिल रहे कोरोना पॉजिटिव

राज्यों में जमात से जुड़े लोगों ने किया ये हाल

तबलीगी जमात के जलसे के कारण देश में कोरोना का संक्रमण जिस तेजी से फैला है, उसके बाद अब यह माना जा रहा है कि इस वायरस का कहर देश में लंबा खिंच सकता है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े इस बात की तस्दीक करते हैं कि पिछले दो दिनों के दौरान 16 राज्यों में तबलीगी जमात से जुड़े 687 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। मात्र दिल्ली में एक दिन में 93 मामले सामने आये तो वहीं तमिलनाडु में सबसे ज्यादा 102 संक्रमित लोगों को आइसोलेट किया गया। तेलंगाना में सामने आए 80 नए मामलों में से 78 का जमात कनेक्शन है।

लंबा चल सकता है कहर

जानकारों का कहना है कि तबलीगी जमात की इस लापरवाही की देश को बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है और अब इस वायरस का कहर लंबा खिंच सकता है। आईसीएमआर के एक वरिष्ठ वैज्ञानिक ने आशंका जताई है कि कोरोना से ग्रसित मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो सकती है। उनका कहना है कि यह अप्रैल के अंत या फिर मई में चरम पर पहुंच सकता है। उनका कहना है कि इसके बाद ही कोरोना के मरीजों की संख्या में कमी आनी शुरू होगी।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story