खतरे में नेताओं का राजनीतिक भविष्य, अब केवल 5 महीने ही बचे हैं

जहां तक यूपी के राजनीतिक परिदृश्य की बात है तो 25 नवम्बर को अपना कार्यकाल समाजवादी पार्टी के जावेद अली, प्रो रामगोपाल यादव, रवि प्रकाश वर्मा और चन्द्रपाल सिंह यादव के अलावा बहुजन समाज पार्टी के राजाराम तथा वीरपाल सिंह, कांग्रेस के पीएल पुनिया तथा भाजपा के हरदीप सिंह पुरी तथा नीरज शेखर अपना कार्यकाल पूरा कर रहे हैं।

Published by Rahul Joy Published: June 3, 2020 | 3:52 pm
Modified: June 3, 2020 | 4:13 pm

श्रीधर अग्निहोत्री 

नई दिल्ली। आगामी 19 जून को राज्यसभा की 18 सीटों के चुनाव होने के ठीक पांच महीने बाद यूपी में भी उच्च सदन की 9 सीटें रिक्त हो रही है जिन पर चुनाव प्रस्तावित है। इन सीटों पर चार पर समाजवादी पार्टी, दो पर बहुजन समाज पार्टी, दो पर भाजपा तथा एक पर कांगे्रस का कब्जा है। इन सीटों पर चुनाव के बाद भाजपा राज्यसभा में और ताकतवर बन जाएगी। वहीं समाजवादी पार्टी और बसपा को बड़ा नुकसान होगा।

19 जून को होगा चुनाव 

फिलहाल राजनीतिक दलों का सारा ध्यान तो 19 जून को होने वाले 18 सीटों के लिए चुनाव पर है। ये सीटें आंध्र प्रदेश, झारखंड, मध्य प्रदेश, मणिपुर, राजस्थान, गुजरात और मेघालय से हैं। लेकिन छह महीने बाद नवम्बर में जब यूपी के इन राज्यसभा सदस्यों का कार्यकाल पूरा होगा तो विपक्ष का गणित जरूर गडबड़ा जाएगा।

अभी-अभी बड़ा ऐलान: मोदी सरकार ने किसानों को दी खुशखबरी, इसे मिली मंजूरी

बता दें कि राज्यसभा की 55 सीटों के लिए 26 मार्च को चुनाव होना था | कोरोना के चलते 26 मार्च को होने वाले राज्यसभा चुनाव स्थगित कर दिए थे। 17 राज्यों की ये सीटें अप्रैल से खाली पड़ी हुई हैं। 37 उम्मीदवार चुनाव लड़े बिना ही पहले ही निर्विरोध चुने जा चुके हैं। इन 18 सीटों में से चार-चार सीटें आंध्र प्रदेश और गुजरात से हैं। इसके अलावा झारखंड की दो सीटें हैं जबकि मध्य प्रदेश और राजस्थान से तीन-तीन सीटें हैं। मणिपुर और मेघालय की एक-एक सीट के लिए भी चुनाव होंगे।

जहां तक यूपी के राजनीतिक परिदृश्य की बात है तो 25 नवम्बर को अपना कार्यकाल समाजवादी पार्टी के जावेद अली, प्रो रामगोपाल यादव, रवि प्रकाश वर्मा और चन्द्रपाल सिंह यादव के अलावा बहुजन समाज पार्टी के राजाराम तथा वीरपाल सिंह, कांग्रेस के पीएल पुनिया तथा भाजपा के हरदीप सिंह पुरी तथा नीरज शेखर अपना कार्यकाल पूरा कर रहे हैं।

अगस्त में करवाया था उपचुनाव

इनमें केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी जनवरी 2018 से राज्यसभा के सदस्य हैं। भाजपा ने मनोहर पर्रिकर के इस्तीफे के बाद हुई रिक्त सीट पर उन्हे राज्यसभा भेजा था जबकि नीरज शेखर पिछले साल जनवरी में समाजवादी पार्टी  से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो गए थें जिसके बाद अगस्त में उपचुनाव कराना पड़ा और नीरज शेखर निर्विरोध जीतकर फिर से राज्यसभा पहुंचे ।

सूची इस प्रकार है 

यूपी में यदि राजनीतिक दलों की दलीय सूची देखी जाए तो भाजपा के 307, समाजवादी पार्टी के 49, बहुजन समाज पार्टी के 18, अपना दल सोनेलाल के 9,कांग्रेस के 7,सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के 4,निर्बल इंडियन शोषित दल का एक तथा तीन निर्दलीय तीन सदस्य हैं। जबकि चार सीटे रिक्त पड़ी हैं।

रिपोर्टर- श्रीधर अग्निहोत्री, लखनऊ 

मुंबईः चक्रवात निसर्ग की वजह से शिवाजी एयरपोर्ट पर शाम 7 बजे तक विमानों की आवाजाही पर रोक