Top

अश्विनी पोनप्पा ने कहा- अब हम कुछ टूर्नामेंट जीतना चाहते हैं

अश्विनी पोनप्पा ने 26 मार्च को इंडिया ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के महिला युगल के पहले दौर में बेहतर रैंकिंग वाली जोड़ी को हराने के बाद कहा कि इस जीत से उनका और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी का मनोबल बढ़ा है और अब वे कुछ टूर्नामेंट जीतना चाहते हैं।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 26 March 2019 2:32 PM GMT

अश्विनी पोनप्पा  ने कहा- अब हम कुछ टूर्नामेंट जीतना चाहते हैं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नयी दिल्ली: अश्विनी पोनप्पा ने 26 मार्च को इंडिया ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के महिला युगल के पहले दौर में बेहतर रैंकिंग वाली जोड़ी को हराने के बाद कहा कि इस जीत से उनका और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी का मनोबल बढ़ा है और अब वे कुछ टूर्नामेंट जीतना चाहते हैं।

दुनिया की 23वें नंबर की भारतीय जोड़ी ने इंदिरा गांधी स्टेडियम के केडी जाधव इंडोर हाल में पहले दौर में ली वेनमेई और झेंग यू की चीन की छठी वरीय जोड़ी को कड़े मुकाबले में सीधे गेम में 47 मिनट में 22-20 21-19 से हराया।

यह भी पढ़ें.....इंडोनेशियन ओपन: दूसरे दौर में पहुंचीं सायना नेहवाल, रेड्डी-पोनप्पा ने किया निराश

हमें इस तरह के और मैचों की जरूरत है

अश्विनी ने जीत दर्ज करने के बाद कहा, ‘‘अब हम कुछ टूर्नामेंट जीतना चाहते हैं। हम बड़े टूर्नामेंटों पर ध्यान लगा रहे हैं और किसी छोटे टूर्नामेंट के बारे में नहीं सोच रहे। हम अतीत में पहले और दूसरे दौर में हारते रहे हैं और इस क्रम को तोड़ना चाहते हैं। आज के मैच से हमारा मनोबल बढ़ेगा क्योंकि हमने ना सिर्फ करीबी मैच खेला बल्कि इसे जीतने में भी सफल रहे। हमें इस तरह के और मैचों की जरूरत है।’’

यह भी पढ़ें.....रियो ओलंपिक में ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी हारी

उन्होंने कहा, ‘‘ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना लक्ष्य है लेकिन हम बड़ी रैंकिंग वाली जोड़ियों के खिलाफ जीत दर्ज करना चाहते हैं। हम प्रदर्शन में निरंतरता लाना चाहते हैं और टूर्नामेंटों में अधिक क्वार्टर फाइनल और सेमीफाइनल खेलना चाहते हैं।’’

अश्विनी ने कहा कि उन्होंने पिछले एक हफ्ते में कड़ी ट्रेनिंग की है और उन्हें इसका फायदा मिल रहा है।

हमने शीर्ष जोड़ियों को कड़ी टक्कर दी है

उन्होंने कहा, ‘‘पिछले एक हफ्ते में हमने कड़ी ट्रेनिंग की है। पिछले कुछ समय में हमने कुछ अच्छे मैच खेले लेकिन उन्हें अच्छे नतीजों में बदलने में नाकाम रहे। मुझे खुशी है कि यहां बेहतर रैंकिंग वाली जोड़ी के खिलाफ हम करीबी मैच में जीत दर्ज करने में सफल रहे। हमने शीर्ष जोड़ियों को कड़ी टक्कर दी है लेकिन जीत दर्ज करने में विफल रहे और यहां की जीत से हमारा मनोबल बढ़ेगा।

यह भी पढ़ें......Badminton : डेनमार्क ओपन के पहले दौर में सायना, समीर जीते, सिंधु हारीं

चीन की जोड़ी के खिलाफ पहले दौर के कड़े मुकाबले के संदर्भ में सिक्की ने कहा, ‘‘हमें पता था कि यह कड़ा मैच होगा और हम इसके लिए तैयार थे। हमें पता था कि हमें आसान अंक नहीं मिलने वाले और हमने खेल को धीमा किया। मैंने गलती की तो अश्विनी ने संभाल लिया। हमने पूरा समय लिया जिसका फायदा मिला।

यह भी पढ़ें......विश्व बैडमिंटम चैंपियनशिप: विजयी आगाज के साथ अगले दौर में श्रीकांत

अश्विनी ने कहा, ‘‘हमने कुछ गलतियां की और उन्हें वापसी करने का मौका दिया जिससे दूसरे गेम में उन्होंने 17-17 के स्कोर पर बराबरी हासिल कर ली। हम कोचों के साथ मिलकर इस पर काम कर रहे हैं और पिछले एक हफ्ते में हमने निरंतरता पर काफी काम किया। ट्रेनिंग का स्तर काफी ऊंचा रहा।

हमने सर्विस और रिटर्न पर काफी काम किया

अतीत में हमने काफी गलतियां की हैं। कभी मैं गलती करती और कभी सिक्की और जब तक हम समझ पाते मैच खत्म हो जाता था। हमने सर्विस और सर्विस रिटर्न पर काफी काम किया है। हमने सर्विस में कुछ गलतियां की लेकिन सर्विस रिटर्न काफी अच्छा था।’’

अश्विनी ने स्वीकार किया कि पिछले कुछ समय में वे महिला युगल पर पर्याप्त ध्यान नहीं दे पाएं हैं लेकिन अब चीजें बदल रही हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ हमने तकनीकी गलतियां काफी की। हमें स्वीकार करना होगा कि हमने पिछले कुछ महीनों में महिला युगल पर काफी काम नहीं किया।’’

यह भी पढ़ें.....रूस ओपन: शानदार प्रदर्शन करते हुए सौरभ वर्मा ने ख़िताब पर जमाया कब्जा

मिश्रित युगल में पुरुष जोड़ीदार पीछे होता है

उन्होंने कहा, ‘‘हम दोनों ने मिश्रित युगल पर काफी ध्यान लगाया और यह तथ्य है कि महिला युगल और पुरुष युगल काफी अलग है। मिश्रित युगल में पुरुष जोड़ीदार पीछे होता है और महिला युगल में आप एक और महिला साझेदार पर निर्भर रहती हैं और उसके आत्मविश्वास पर भरोसा करती हैं।

अब सब ठीक हो रहा है। हम सुबह के सत्र में महिला युगल और शाम को मिश्रित युगल की तैयारी करते हैं। हम पूरा समय युगल की तैयारी हो दे रहे हैं।’’

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story