IND vs AUS: जानें भारत के धुरंधरों के बारे में, जिन्होंने दी अब तक की बेस्ट परफॉर्मेंस

27 नवंबर से भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज का आगाज होने जा रहा है। सबकी निगाहें भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले सीरीज पर टिकी हुई हैं। इसके लिए भारतीय टीम ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर है।

indian cricketar

IND vs AUS: जानें भारत के धुरंधरों के बारे में, जिन्होंने दी अब तक की बेस्ट परफॉर्मेंस

नई दिल्ली: 27 नवंबर से भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज का आगाज होने जा रहा है। सबकी निगाहें भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले सीरीज पर टिकी हुई हैं। इसके लिए भारतीय टीम ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर है। यहां दोनों टीमों के बीच तीन वनडे और तीन टी-20 मैच खेले जाएंगे। इसके बाद बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के तहत चार मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जाएगी। इस सीरीज के शुरू होने से पहले चलिए जानते हैं भारत के उन खिलाड़ियों के बारे में, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया में ऑलराउंड परफॉर्मेंस दिखाया है…

ये भी पढ़ें: इस महान खिलाड़ी का निधन, खेलजगत में शोक की लहर, आया था हार्ट अटैक

रवि शास्त्री vs न्यूजीलैंड

‘बेंसन एंड हेजेज विश्व चैम्पियनशिप ऑफ़ क्रिकेट’ यह मैच विश्व कप से अलग और वनडे क्रिकेट में सबसे बड़े विश्व आयोजन का बड़ा सेमीफाइनल था। 69 रन पर 4 विकेट गिरने के बाद बाद जॉन रीड और जेरेमी कोनी के बीच 50 रनों की साझेदारी ने न्यूजीलैंड टीम के संभाला। इसके बाद भारत को विकेट की जरूरत थी और रवि शास्त्री ने इस मैच में जॉन रीड (55 रन), जेरेमी कोनी (33 रन) और सर रिचर्ड हेडली (03 रन) पर आउट कर भारत के लिए जरूरी विकेट लिए थे। इस पूरी सीरीज में उम्दा प्रदर्शन करने के लिए शास्‍त्री को टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया। उन्हें चैंपियन ऑफ चैंपियनशिप का खिताब देते हुए ऑस्ट्रेलियन ऑडी 100 कार गिफ्ट मिली थी।

सचिन तेंदुलकर vs बनाम पाकिस्तान

एससीजी वर्ल्ड कप 1992 का मैच एक बड़ा टूर्नामेंच था। 1992 का वर्ल्ड कप भारत और पाकिस्तान के बीच मैच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में हो रहा था। उस दौरान 18 साल के सचिन तेंदुलकर वसीम अकरम, इमरान खान और मुश्ताक अहमद जैसे दिग्गज बल्लेबाजों के सामने 62 गेंदों में नाबाद 54 रन की शानदार पारी खेलकर अपना दम दिखा चुके थे। इस पारी में सचिन ने सबसे ज्यादा रन बनाने वाले पाकिस्तानी बल्लेबाज आमिर सोहेल (62 रन) का विकेट भी झटका। जब जावेद मियांदाद और आमिल सोहेल के बीच 88 रन की खतरनाक पार्टनरशिपर हो रही थी, उस वक्त सचिन ने सोहेल को पवेलियन की राह दिखाई, जिसके बाद पाकिस्तानी बल्लेबाज संभल नहीं पाए। सचिन ने 10 ओवर में 37 रन दिए और एक विकेट भी हासिल किया. पाकिस्तान की पारी 173 रन पर सिमट गई।

संदीप पाटिल vs ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया में बेंसन एंड हेजेस कप वर्ल्ड चैंपियन ऑफ क्रिकेट, एमसीजी, 1980 का मैच भारत के लिए पहला वनडे मैच था। वनडे में डेब्यू कर रहे संदीप पाटिल उस वक्त दबाव की स्थिति में बल्लेबाजी करने के लिए आए थे, जब भारत का स्कोर 65 रन पर 4 विकेट था। उन्होंने 70 गेंदों में शानदार 64 रनों की पारी खेली। संदीप की पारी की बदौलत भारत 200 का आकंड़ा पार कर पाया। भारत ने 49 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 208 रन बनाए थे। जॉन डेसन और किम ह्यूज्स ने ओपनिंग विकेट के लिए 60 रन की साझेदारी कर ऑस्ट्रेलिया को शानदार शुरुआत दिलवाई। भारत को एक ब्रेकथ्रू की जरूरत थी और बल्लेबाजी में कमाल दिखाने के बाद पाटिल ने गेंद से भी कमाल किया। उन्होंने 35 रन बनाने वाले ह्रयूज्स को पवेलियन की राह दिखा दी। इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम 142 रन पर ऑलआउट हो गई।

ये भी पढ़ें: टमाटर वाले धोनी: रिटायरमेंट के बाद करेंगे ये काम, यहां ऐसे करते है काम

कपिल देव vs न्यूजीलैंड

भारत और न्यूजीलैंड के बीच हो रहे बेंसन एंड हेजेस वर्ल्ड सीरीज कप 1986 में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान कपिल देव ने 10 ओवर में 28 रन देकर एक विरेट हासिल किया। कपिल देव की इस किफायती गेंदबाजी के दम पर न्यूजीलैंड ने 9 विकेट के नुकसान पर 259 रन बनाए. गेंद से धमाल मचाने के बाद कपिल देव ने बल्ले से अपना कमाल दिखाया। श्रीकांत, सुनील गावस्कर और अमरनाथ की शानदार शुरुआत के बाद कपिल देव ने 53 गेंदों में नाबाद 54 रन की मैच जिताऊ पारी खेली। कपिल देव की बदौलत भारत ने इस मैच में 5 विकेट से शानदार जीत हासिल की।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App