इस महान खिलाड़ी का निधन, खेलजगत में शोक की लहर, आया था हार्ट अटैक

इस महीने की शुरुआत में ही मैराडोना के दिमाग में खून का थक्का जम गया था और उन्हें सर्जरी के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 1986 में अपने जादुई खेल से अर्जेंटीना का विश्व कप खिताब जिताने वाले माराडोना फुटबॉल जगत के सबसे चर्चित चेहरों व सबसे विवादित नामों में से एक रहे।

Diego Maradona

(फोटो: सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: अर्जेंटीना के दिग्गज फुटबॉलर डिएगो माराडोना का बुधवार को निधन हो गया है। वह 60 साल के थे और उन्हें कार्डिएक अरेस्ट आया था। फुटबॉल के महान खिलाड़ी को घर पर ही हार्ट अटैक आया था। उन्होंने दो सप्ताह पहले दिमाग में खून का थक्का जम जाने के कारण सर्जरी करवाई थी।

इस महीने की शुरुआत में ही मैराडोना के दिमाग में खून का थक्का जम गया था और उन्हें सर्जरी के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 1986 में अपने जादुई खेल से अर्जेंटीना का विश्व कप खिताब जिताने वाले माराडोना फुटबॉल जगत के सबसे चर्चित चेहरों व सबसे विवादित नामों में से एक रहे। उन्होंने अर्जेंटीना फुटबॉल टीम के लिए खेला भी और कोच के रूप में भी भूमिका निभाई।

माराडोना ने बोका जूनियर्स, नेपोली और बार्सेलोना के अलावा अन्य क्लब के लिए भी खेले हैं। माराडोना को इंग्लैंड के खिलाफ 1986 के टूर्नामेंट में ‘हैंड ऑफ गॉड’ के लिए याद किया जाता है।

ये भी पढ़ें…टमाटर वाले धोनी: रिटायरमेंट के बाद करेंगे ये काम, यहां ऐसे करते है काम

विश्व कप जितवाने में अहम भूमिका निभाई

माराडोना ने अर्जेंटीना को 1986 फुटबॉल विश्व कप जितवाने में अहम भूमिका निभाई थी। माराडोना ने साल 1976 में फुटबॉल खेलना शुरू किया। इसके एक दशक बाद उनकी कप्तानी में अर्जेंटीना ने 1986 का विश्व कप अपने नाम किया।

इस महान खिलाड़ी का कद इतना बड़ा था कि अर्जेंटीना के ब्यूनस आयर्स में उनकी 9 फीट ऊंची प्रतिमा लगाई है। साल 2018 में डिएगो माराडोना के 58वें जन्मदिन पर उनकी पहली कांसे की प्रतिमा का अनावरण हुआ था।

ये भी पढ़ें…Ind Vs Aus: क्रिकेट के फैंस के लिए बड़ी खबर, बाहर हो सकते हैं ये दिग्गज खिलाड़ी

ड्रग टेस्ट में फेल हो गए थे माराडोना

विश्व कप जितवाने के अगले साल बाद 1987 में माराडोना ने इटेलियन क्लब नेपोली को सीरिया-ए का चैंपियन बना दिया। लेकिन बाद माराडोना कोकेन लेने लगे। उन्होंने 1991 में नेपोली छोड़ दिया। माराडोना ड्रग लेने के दोषी पाए गए और उनपर 15 महीनों का बैन लगा दिया गया। साल 1994 में अमेरिका में वर्ल्ड कप खेला गया इसके उनको बाहर कर दिया गया। माराडोना ड्रग टेस्ट में फेल हो गए थे।

ये भी पढ़ें…IND vs AUS: गब्बर के साथ कौन करेगा ओपनिंग? इन दो क्रिकेटरों में मुकाबला

माराडोना के निधन पर पूरी दुनिया में उनको श्रद्धाजलि दी जारी है। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने माराडोना के निधन दुख जताया है। उन्होंने कहा कि मेरे हीरो नहीं रहे। मैंने आपके लिए फुटबॉल देखा।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App