ऑस्ट्रेलिया पर ऐतिहासिक जीत, जब इस खिलाड़ी की जाल में फंस गए कंगारू

भारतीय क्रिकेट में बहुत सारे रिकॉर्ड है जो हैरान करते हैं। उनमें एक अनिल कुंबले के एक पारी में दसों विकेट लेने का रिकॉर्ड तो सबको पता है, लेकिन आपको पता है इसके पहले भी एक भारतीय क्रिकेटर था, जिसने एक पारी में 9 विकेट लिए थे और रिकॉर्ड बनाया था। वो जसु पटेल थे जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट बहुत बड़ा नहीं था।

Published by suman Published: June 26, 2020 | 10:43 am

नई दिल्ली  भारतीय क्रिकेट में बहुत सारे रिकॉर्ड है जो हैरान करते हैं। उनमें एक अनिल कुंबले के एक पारी में दसों विकेट लेने का रिकॉर्ड तो सबको पता है, लेकिन आपको पता है इसके पहले भी एक भारतीय क्रिकेटर था, जिसने एक पारी में 9 विकेट लिए थे और रिकॉर्ड बनाया था। वो जसु पटेल थे जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट बहुत बड़ा नहीं था। लेकिन छोटे से ही अंतरराष्ट्रीय करियर में अपनी छाप छोडी थी। 7 मैचों के टेस्ट मैच में ही एक मैच उन्होंने ऐसा खेला कि उसे ‘पटेल टेस्ट मैच’ के नाम से जाना जाता है।

 

यह पढ़ें…लद्दाख सीमा पर ऐसे हालात: झड़प के बाद भारत-चीन सैनिक कर रहे LAC पर ये काम

 

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत

बता दें कि भारत को ऑस्ट्रेलिया टेस्ट विजय हासिल करने में 12 साल (1947-1959) लगे थे। इस दौरान भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरुआती 9 टेस्ट मैचों में से 7 मुकाबले गंवाए थे, लेकिन 10वें टेस्ट में भारत ने जीत का स्वाद चखा। ये ऐतिहासिक जीत टीम को ऑफ स्पिनर जसु पटेल की बदौलत मिली थी।

 

इस तरह जसु ने चटकाए विकेट

1959 में पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया की टीम भारत दौरे पर थी। इस सीरीज से पहले तक ऑस्ट्रेलिया ने 16 टेस्ट मैचों में से 11 में जीत हासिल की थी, जबकि एक भी टेस्ट नहीं गंवाया था। उधर, भारत अपने पिछले 13 मैचों में से 10 टेस्ट हार चुका था। उस सीरीज में भी ऑस्ट्रेलिया ने जीत के साथ शुरुआत की थी, सीरीज का अगला टेस्ट कानपुर (19-24 दिसंबर 1959) में खेला गया। ग्रीन पार्क पर जसु पटेल की ने ऐसा खेला कि ग्रीन पार्क में एक-एक कर 9 खिलाड़ी उनके  शिकार हुए और अपनी पहली पारी में ऑस्ट्रेलियाई टीम 219 रनों पर सिमट गई।

35.5 ओवर, 16 मेडन, 69 रन, 9 विकेट के साथ जसु का भारत के टेस्ट इतिहास में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी विश्लेषण रहा उनका यह रिकॉर्ड अगले 40 साल तक कायम रहा। जब  1999 में दिग्गज लेग स्पिनर अनिल कुंबले ने पाकिस्तान के खिलाफ सभी 10 विकेट लिए थे। ऑफ स्पिनर जसु पटेल ने कानपुर टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में 5 विकेट (55 रन देकर) चटकाए। 225 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम 105 रनों पर सिमट गई। जसु के इस सनसनीखेज प्रदर्शन से भारत ने कानपुर टेस्ट 119 रनों से जीत लिया, हालांकि बाद में उस टेस्ट सीरीज को ऑस्ट्रेलिया ने 2-1 से अपने नाम किया।

 

यह पढ़ें…फिर महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, 100 रुपए होने में सिर्फ इतना बाकी, चेक करें रेट

 

ऐसा रहा करियर

कानपुर टेस्ट में उतारे जाने से पहले जसु पटेल ने पिछले तीन साल में एक भी टेस्ट नहीं खेला था। 4 टेस्ट में 10 विकेट ही उनके खाते में थे। जसु पटेल ने एक पारी में 9 विकेट चटकाए, जिनमें से 8 तो बिना किसी फील्डर के- 5 को बोल्ड किया, 2 एलबीडब्ल्यू हुए और एक को खुद ही कैच किया। हालांकि जसु के लिए यह आखिरी सीरीज में साबित हुई। कानपुर टेस्ट के बाद वह दो और टेस्ट खेले। यानी 7 टेस्ट में कुल 29 विकेट उनके नाम रहे। बचपन में पेड़ से गिरने से जसु का हाथ टूट गया था। इस वजह से उनका गेंदबाजी एक्शन कुछ ‘अलग’ था। 1992 में 68 साल की उम्र में उनका निधन हुआ।

 

 

भारतीय गेंदबाज, सबसे ज्यादा विकेट
 अनिल कुंबले : 26.3 ओवर, 9 मेडन, 74 रन, 10 विकेट,  जसु पटेल : 35.5 ओवर, 16 मेडन, 69 रन, 9 विकेट,  कपिल देव : 30.3 ओवर, 6 मेडन, 83 रन, 9 विकेट, सुभाष गुप्ते  34.3 ओवर, 11 मेडन, 102 रन, 9 विकेट।एक  टेस्ट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाला 1988, विरुद्ध वेस्टइंडीज- नरेंद्र हिरवानी: 33.5 ओवर, 6 मेडन, 136 रन, 16 विकेट (चेन्नई)।  2001, विरुद्ध ऑस्ट्रेलिया- हरभजन सिंह: 80.1 ओवर, 26 मेडन, 217 रन, 15 विकेट (चेन्नई)। 1959, विरुद्ध ऑस्ट्रेलिया- जसु पटेल: 61.3 ओवर, 23 मेडन, 124 रन, 14 विकेट (कानपुर) 1999, विरुद्ध पाकिस्तान- अनिल कुंबले: 51.0 ओवर, 13 मेडन, 149 रन, 14 विकेट (दिल्ली)।