Top

भारतीय स्पिनर कुलदीप यादव ने कहा- टर्न लेती गेंदें रसेल की कमजोरी

भारतीय स्पिनर कुलदीप यादव का मानना है कि आंद्रे रसेल ने टर्न लेती गेंदों के सामने अपनी कमजोरी के संकेत दिये हैं और कहा कि विश्व कप में वेस्टइंडीज के इस विस्फोटक बल्लेबाज को कुंद करने के लिये उनके पास पर्याप्त अस्त्र हैं।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 11 April 2019 10:45 AM GMT

भारतीय स्पिनर कुलदीप यादव ने कहा- टर्न लेती गेंदें रसेल की कमजोरी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कोलकाता: भारतीय स्पिनर कुलदीप यादव का मानना है कि आंद्रे रसेल ने टर्न लेती गेंदों के सामने अपनी कमजोरी के संकेत दिये हैं और कहा कि विश्व कप में वेस्टइंडीज के इस विस्फोटक बल्लेबाज को कुंद करने के लिये उनके पास पर्याप्त अस्त्र हैं।

रसेल ने कोलकाता नाइटराइडर्स की तरफ से आईपीएल में अब तक बेहतरीन प्रदर्शन किया है। उन्होंने केवल 121 गेंदों पर 257 रन बनाये हैं और उनका स्ट्राइक रेट 212.39 है।

यह भी पढ़ें.....सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले इस पाकिस्तानी स्पिनर ने कबूली मैच फिक्सिंग की बात

लेकिन केकेआर के उनके साथी कुलदीप ने कहा कि उन्होंने रसेल की कमजोरी ढूंढ ली है जिसका वह 30 मई से 14 जुलाई के बीच होने वाले विश्व कप के दौरान फायदा उठाना चाहते हैं।

कुलदीप ने पीटीआई को दिये साक्षात्कार में कहा, ‘‘उसे टर्न लेती गेंदों का सामना करने में कुछ परेशानी होती है। अगर गेंद टर्न ले रही हो तो यह उसकी कमजोरी है। ’’

यह भी पढ़ें.....बंगलुरु टेस्ट: अफगान स्पिनरों पर हावी रहे भारतीय बल्लेबाज, खूब बनाए रन

उन्होंने कहा, ‘‘केवल यही नहीं, मैंने विश्व कप में उसके लिये अलग अलग तरह की योजनाएं बनायी हैं। मैं जानता हूं कि उसे कैसे रोकना है और इस बारे में मेरी सोच स्पष्ट है। ’’

वह रसेल के साथ एक ही ड्रेसिंग रूम में रहते हैं लेकिन कुलदीप ने स्वीकार किया कि वह नेट्स पर कभी रसेल के लिये गेंदबाजी नहीं करते।

उन्होंने कहा, ‘‘वह स्पिनरों के सामने कोई मौका नहीं चूकता। वह तेज गेंदबाजों के लिये आतंक है। और मैं उसके लिये कभी नेट्स पर गेंदबाजी नहीं करता। जब आपकी गेंदों पर लगातार दो छक्के लगते हैं तो आप दबाव में आ जाते हैं। ’’

यह भी पढ़ें......ICC की वनडे और टी-20 टीमों की लिस्ट जारी, जगह बनाने वाली एकमात्र स्पिनर बनीं एकता

कुलदीप ने कहा, ‘‘यह महत्वपूर्ण है कि आप कैसे वापसी करते हैं। बल्लेबाज को आउट करने के लिये केवल एक गेंद की जरूरत पड़ती है। आप इससे किसी खिलाड़ी के खेल के स्वभाव का आकलन कर सकते हैं। ’’

कुलदीप ने अभी तक छह मैचों में केवल तीन विकेट लिये हैं लेकिन भारत के इस चाइनामैन गेंदबाज ने कहा कि वह अपने प्रदर्शन से खुश हैं और वह परिपक्व क्रिकेटर बन गये हैं।

यह भी पढ़ें......यहां हवा में उड़ा था गावस्कर का बल्ला, इस स्पिनर ने झटके थे 14 विकेट

उन्होंने कहा, ‘‘मैं विकेट नहीं ले रहा हूं इसका मतलब यह नहीं है कि मैं अच्छी गेंदबाजी नहीं कर रहा हूं। अब मैं एक परिपक्व क्रिकेटर की तरह खेल रहा हूं और मैं टीम के बारे में अधिक सोचता हूं। भले ही मैं विकेट नहीं ले रहा हूं लेकिन इकोनोमी रेट अच्छा है। ’’

कुलदीप ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि इस आईपीएल में बल्लेबाज मेरी गेंदों पर अधिक आक्रमण नहीं कर रहे हैं। बल्लेबाज मेरे खिलाफ बड़े शॉट नहीं खेल रहे हैं। मैं प्रत्येक मैच तीन चार बाउंड्री ही दे रहा हूं जिसका मतलब है कि बल्लेबाज मेरे सामने सतर्कता बरत रहे हैं। केवल दिल्ली का मैच अपवाद है।’’

यह भी पढ़ें......मांकड़िंग विवाद को भुलाकर सनराइजर्स के खिलाफ जीत दर्ज करना चाहेगा राजस्थान

इस 24 वर्षीय गेंदबाज ने भारतीय टीम के अपने साथी युजवेंद्र चहल का उदाहरण दिया जिन्होंने छह मैचों में नौ विकेट लिये लेकिन उनकी टीम रायल चैलेंजर्स बेंगलोर को इन सभी मैचों में हार का सामना करना पड़ा।

कुलदीप ने कहा, ‘‘चहल अच्छा प्रदर्शन कर रहा है लेकिन टीम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रही है। आपको अपनी रणनीति के अनुसार खेलना होता है। अगर आपकी टीम सबसे निचले पायदान पर हो तो यह मायने नहीं रखता कि आपने नौ विकेट लिये। मैं नहीं मानता कि मैं अच्छी गेंदबाजी नहीं कर रहा हूं। ’’

यह भी पढ़ें.......पर्थ टेस्ट: ऑस्ट्रेलिया ने भारत से हिसाब किया बराबर, 146 रनों से हराया

उन्होंने कहा कि ईडन गार्डन्स का विकेट भी स्पिनरों को पहले की तरह मदद नहीं दे रहा है।

कानपुर के इस स्पिनर ने कहा, ‘‘विकेट से स्पिनरों को कोई मदद नहीं मिल रही है जैसे कि तीन चार पहले मिलती थी। यह बल्लेबाजों के अनुकूल बन गया है। टी20 क्रिकेट के लिये यह अच्छा है। ’’

(भाषा)

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story