भारतीय युवा अंपायर ने रचा इतिहास, आईसीसी ने नितिन मेनन को दिया बड़ा मौका

भारत के युवा अंपायर नितिन मेनन ने इतिहास रच दिया है। मेनन को इंग्लैंड के नाइजेल लोंग की जगह 2020-21 सत्र के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद…

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली: भारत के युवा अंपायर नितिन मेनन ने इतिहास रच दिया है। मेनन को इंग्लैंड के नाइजेल लोंग की जगह 2020-21 सत्र के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के अंपायरों के एलीट पैनल में शामिल किया गया है। 36 साल के मेनन इस पैनल में शामिल होने वाले सबसे युवा अंपायर हैं। मेनन की इस उपलब्धि पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने उन्हें बधाई दी है।

ये भी पढ़ें: भारत विरोध पर अलग-थलग पड़े ओली, पीएम को उनके ही विदेश मंत्री ने दी नसीहत

एलीट पैनल में भारत के तीसरे अंपायर

आईसीसी के एलीट पैनल में शामिल होने वाले मेनन भारत के तीसरे अंपायर होंगे। वे विश्व क्रिकेट में एलीट पैनल में शामिल होने वाले सबसे कम उम्र के अंपायर बन गए हैं। इससे पहले टीम इंडिया के पूर्व कप्तान श्रीनिवास वेंकटराघवन और एस सुंदरम रवि आईसीसी के एलीट पैनल में रह चुके हैं। रवि को पिछले साल ही एलीट पैनल से बाहर कर दिया गया था।

ये भी पढ़ें: स्वास्थ्य विभाग में चली तबादला एक्सप्रेस, 21 मुख्य चिकित्सा अधीक्षकों का ट्रांसफर

एलीट पैनल में शामिल होने वाले अंपायर आईसीसी के सभी बड़े मुकाबलों में अंपायरिंग का जिम्मा संभालते हैं। एलीट पैनल के अंपायर विश्व कप, टेस्ट चैंपियनशिप और चैंपियंस ट्रॉफी जैसे बड़े टूर्नामेंटों में भूमिका निभाते हैं। माना जा रहा है कि नितिन को अगले साल होने वाली एशेज सीरीज में अंपायरिंग का मौका दिया जा सकता है।

इस समिति ने किया चुनाव

मेनन का चुनाव आईसीसी की चयन समिति की ओर से किया गया है जिसकेअध्यक्ष ईसीसी के महाप्रबंधक (क्रिकेट) ज्योफ एलरडाइस थे। समिति के सदस्यों में टीम इंडिया के पूर्व सदस्य और कमेंटेटर संजय मांजरेकर और मैच रेफरी रंजन मदुगले एवं डेविड बून शामिल थे। 36 वर्षीय मेनन को 57 प्रथम श्रेणी मैचों के साथ ही तीन टेस्ट मैच, 24 वनडे और 16 टी 20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के साथ ही 40 आईपीएल मैचों में भी अंपायरिंग का अनुभव है।

ये भी पढ़ें: अब इस राज्य में बढ़ा लॉकडाउन, सीएम ने किया बड़ा एलान

मेनन ने बताया बड़ा सम्मान

एलीट पैनल में शामिल किए जाने के बाद मेनन ने कहा कि यह मेरे लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। एलीट पैनल में शामिल होना मेरे लिए बहुत सम्मान और गर्व की बात है। मेरा हमेशा से सपना रहा है कि मैं दुनिया के प्रमुख अंपायरों के साथ नियमित रूप से काम करूं। आईसीसी की ओर से मुझे अब यह मौका दिया गया है।

एमपी की ओर से खेल चुके हैं मेनन

मेनन खिलाड़ी के रूप में मध्य प्रदेश की टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। उन्होंने मध्यप्रदेश के लिए दो प्रथम श्रेणी के मुकाबले खेले। हालांकि इन मैचों में उनका प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं रहा और वह केवल 7 रन बनाने में कामयाब हो सके। वे अंडर 16, अंडर 19, अंडर 20 और 34 लिस्ट ए के मैचों में मध्य प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। बाद में 2006 में उन्होंने बीसीसीआई की अखिल भारतीय परीक्षा पास की और घरेलू मैचों में अंपायरिंग का काम शुरू किया। उनके पिता नरेंद्र मेनन भी अंतरराष्ट्रीय अंपायर रह चुके हैं। मेनन 2005 में मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ के प्रदेश पैनल के अंपायर बने थे।

ये भी पढ़ें: अखिलेश का BJP पर बड़ा हमला, सरकार के इस फैसले को बताया जनविरोधी