Top

Mary Pierce: ऐसी महान टेनिस खिलाड़ी, जिन्होंने कम उम्र में बनाए इतने खिताब

पियर्स ने चार ग्रैंड स्लैम खिताब जीते हैं दो एकल में, एक युगल में और एक मिश्रित युगल में। वह छह ग्रैंड स्लैम एकल फाइनल में पहुंची। इन्होंने सबसे हाल ही में यूएस ओपन और 2005 में फ्रेंच ओपन में खेला है।

Shraddha Khare

Shraddha KhareBy Shraddha Khare

Published on 15 Jan 2021 7:39 AM GMT

Mary Pierce: ऐसी महान टेनिस खिलाड़ी, जिन्होंने कम उम्र में बनाए इतने खिताब
X
Mary Pierce: ऐसी महान टेनिस खिलाड़ी, जिन्होंने कम उम्र में बनाए इतने खिताब photos (social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : मैरी कैरोलिन पियर्स यह एक टेनिस खिलाड़ी हैं। जिन्होंने अपने खेल अभिनय से टीम प्रतियोगिताओं और ओलंपिक में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फ्रांस का प्रतिनिधित्व किया। वह कनाडा में एक अमेरिकी पिता और एक फ्रांसीसी परिवार में इनका जन्म हुआ। इनका जन्म 15 जनवरी 1975 में हुआ था। यह खिलाड़ी तीनों देशों की नागरिकता रखती है।

मैरी कैरोलिन पियर्स का टेनिस करियर

पियर्स ने चार ग्रैंड स्लैम खिताब जीते हैं दो एकल में, एक युगल में और एक मिश्रित युगल में। वह छह ग्रैंड स्लैम एकल फाइनल में पहुंची। इन्होंने सबसे हाल ही में यूएस ओपन और 2005 में फ्रेंच ओपन में खेला है। उनके ग्रैंड स्लैम एकल खिताब 1995 ऑस्ट्रेलियन ओपन और 2000 फ्रेंच ओपन में आए। आपको बता दें पियर्स अंतिम फ्रेंच खिलाड़ी, पुरुष या महिला, बाद का खिताब जीतने वाली हैं। उन्होंने साल 2000 में फ्रेंच ओपन में मार्टिना हिंगिस के साथ अपने साथी के रूप में युगल प्रतियोगिता जीती, और 2000 ऑस्ट्रेलियाई ओपन में एक अतिरिक्त ग्रैंड स्लैम महिला युगल फाइनल में पहुंची। जिसमें हिंगिस की भी भागीदारी थी।

चैंपियनशिप में मिक्स्ड डबल्स प्रतियोगिता जीती

उन्होंने 2005 विंबलडन चैंपियनशिप में मिक्स्ड डबल्स प्रतियोगिता भी जीती। जिसमें महेश भूपति ने भागीदारी की। पियर्स ने 18 डब्ल्यूटीए एकल खिताब और 10 डब्ल्यूटीए युगल खिताब जीते हैं। जिसमें पांच टीयर एकल इवेंट शामिल हैं। वह दो बार सीजन-समाप्त डब्ल्यूटीए टूर चैंपियनशिप के फाइनल में भी पहुंची। उन्हें 2019 में अंतर्राष्ट्रीय टेनिस हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया था।

दस साल की उम्र में टेनिस खेलना किया शुरू

पियर्स ने दस साल की उम्र में टेनिस खेलना शुरू किया। टेनिस में पेश किए जाने के दो साल बाद 12 वर्ष से कम उम्र की लड़कियों के लिए और उन्हें देश में नंबर 2 पर रखा गया। अप्रैल 1989 में हिल्टन हेड में एक डब्ल्यूटीए टूर्नामेंट में पियर्स सबसे युवा अमेरिकी खिलाड़ी 14 साल और 2 महीने की उम्र में पेशेवर दौरे पर पदार्पण करने वाली बनी। उनकी शारीरिकता और आक्रामक दृष्टिकोण के कारण, उनकी बॉलस्ट्राइकिंग की तुलना कैपरीटी से की गई और उन्होंने जल्दी से महिलाओं के सर्किट पर सबसे मुश्किल hitters में से एक होने के लिए एक प्रतिष्ठा प्राप्त की।

tenis player

ये भी पढ़ें :इस खिलाड़ी ने ब्रिस्बेन टेस्ट में किया डेब्यू, सिर्फ एक कान से देता है सुनाई

2006 पहला टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियन ओपन

मैरी कैरोलिन पियर्स 2006 में प्रमुख खिताब जीतने के लिए एक सत्र में ऑफ सीज़न में कड़ी मेहनत की। वर्ष का पहला टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियन ओपन था। उन्होंने पहले दौर में चेक गणराज्य की इवेता बेनेस्को से हारने से पहले इस दौर में ऑस्ट्रेलिया की निकोल प्रैट को हराया। हार ने उन्हें मार्टिना हिंगिस के साथ तीसरे दौर के मैच से वंचित कर दिया। पियर्स अपने अगले टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची, गाज़ डे फ्रांस इन पेरिस, जहां वह सीधे सेटों में हमवतन अमेली मर्समो से हार गई। फ्रेंच ओपन और विंबलडन से हटने के कारण पियर्स अगस्त तक फिर से नहीं खेल पाए।

ये भी पढ़ें : सायना नेहवाल फिर कोरोना पॉजिटिव, थाईलैंड ओपन में खेलना मुश्किल

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shraddha Khare

Shraddha Khare

Next Story