Top

धमाल ही धमाल: महिलाओं के बाद पुरुष भी, तोक्यो ओलंपिक के लिए किया क्वालिफाइ

भारतीय हॉकी के लिए 2 नवंबर का दिन बहुत अहम रहा। पहले महिला टीम ने तोक्यो ओलिंपिक-2020 के लिए क्वॉलिफाइ किया। उसके बाद पुरुष टीम ने भी ये गौरव प्राप्त कर लिया है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 2 Nov 2019 5:39 PM GMT

धमाल ही धमाल: महिलाओं के बाद पुरुष भी, तोक्यो ओलंपिक के लिए किया क्वालिफाइ
X
धमाल ही धमाल: महिलाओं के बाद पुरुष भी, तोक्यो ओलंपिक के लिए किया क्वालिफाइ
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : भारतीय हॉकी के लिए 2 नवंबर का दिन बहुत अहम रहा। पहले महिला टीम ने तोक्यो ओलिंपिक-2020 के लिए क्वॉलिफाइ किया। उसके बाद पुरुष टीम ने भी ये गौरव प्राप्त कर लिया है। खेल में पुरुष टीम ने रूस को दूसरे लेग में 7-1 (दो मैचों का स्कोर 11-3) से हराते हुए ओलिंपिक का टिकट कटाया।

यह भी देखें... चीनी हरकत: अमेरिका ने शुरू की जांच, डाटा लीक होने का संदेह

साथ ही भारत की जीत के हीरो रहे आकाशदीप सिंह (23वें और 29वें मिनट) और रुपिंदर पाल सिंह (48वें और 59वें मिनट) ने 2-2 दागे, जबकि ललित उपाध्याय (17 वें मिनट), निलकांता शर्मा (47वें मिनट) और और अमित रोहिदास के नाम एक-एक गोल रहा।

आपको बता दें कि भारत ने बीते शुक्रवार को पहले लेग में रूस को 4-2 से हराया था। जबकि महिला टीम ने एग्रीगेट स्कोर के आधार पर यूएसए को 6-5 से हराया। ये दोनों ही मुकाबले भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में खेले गए।

इससे पहले बता दें कि भारतीय महिला हॉकी टीम ने कमाल कर दिया है। हॉकी ओलिंपिक क्वॉलिफायर के दूसरे मुकाबले में यूएसए के खिलाफ हारने के बाद भी उसने तोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ कर लिया है।

असल में उसने एग्रीगेट के आधार पर यूएसए को 6-5 से दी शिकस्त दी। बता दें कि भरतीय महिला टीम ने पहले लेग (पहले मैच) में यूएसए की टीम को 5-1 के बड़े अंतर से हराया था, जबकि दूसरे लेग मे उसे यूएसए के हाथों 1-4 से हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद वह एग्रीगेट स्कोर के आधार यूएसए के 5 गोल के मुकाबले 6 गोल के साथ ओलिंपिक के लिए क्वॉलिफाइ करने में सफल रही।

हुई जबरदस्त शुरुआत

रूस ने पहले क्वॉर्टर की शुरुआत में आक्रामक की। मैच शुरू हुए पहला मिनट पूरा भी नहीं हुआ थी कि एलेक्सी सोबोलेवस्की ने गोल दागते हुए रूस को 1-0 की बढ़त दिला दी। पहले क्वॉर्टर में लगने वाला ये एकमात्र गोल रहा। भारतीय टीम के डिफेंस ने वापसी करते हुए रूस को एक भी गोल नहीं करने दिया था।

यह भी देखें… खतरनाक सॉफ्टवेयर: जासूस बनकर करता हैक, 1400 से ज्यादा का डाटा लीक

दूसरा क्वॉर्टर

इसके बाद दूसरा क्वॉर्टर भारत के लिए वापसी के साथ-साथ बढ़त वाला रहा। 17वें मिनट में ललित उपाध्याय ने गेंद जाल में उलझाते हुए भारत का खाता खेला, जबकि आकाशदीप सिंह ने एक के बाद एक, दो गोल दागते हुए भारत को 3-1 की बढ़त दिला दी। आकाशदीप ने अपना पहला गोल 23वें मिनट में दागा था, जबकि दूसरा गोल आधे समय से ठीक पहले 29वें मिनट में किया।

तीसरा क्वॉर्टर

आखिरी में तीसरा क्वॉर्टर गोल रहित रहा। लेकिन चौथे क्वॉर्टर की शुरुआत भारतीय टीम ने आक्रामक तरीके से की। निलकांता शर्मा ने 47वें मिनट में जोरदार हिट लगाते हुए टीम के लिए चौथा गोल दागा तो रुपिंदर पाल सिंह ने इसके एक ही मिनट बाद मिले पेनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील कर दिया।

अब भारत की बढ़त 5-1 की हो गई। भारत ने अंतिम दो मिनट में भी दो गोल दागे। भारत को दो पेनल्टी कॉर्नर मिले, जिन्हें रूपिंदर और रोहिदास ने गोल में बदला।

यह भी देखें… बेसहारा इमरान: सिर्फ 2 दिन का बचा समय, हुआ तरसे को तिनके का सहारा जैसा हाल

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story