Top

अरे इस कंपनी ने धोनी को दे दिया धोखा, शिकायत करने पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आम्रपाली सूमह के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं। धोनी ने आम्रपाली सूमह द्वारा पेंटहाउस न दिए जाने और कंपनी द्वारा उनका नाम देनदारों की सूची में शामिल करने को लेकर सर्वोच्च अदालत का दरवाजा खटखटाया है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 28 April 2019 8:29 AM GMT

अरे इस कंपनी ने धोनी को दे दिया धोखा, शिकायत करने पहुंचे सुप्रीम कोर्ट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आम्रपाली सूमह के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं। धोनी ने आम्रपाली सूमह द्वारा पेंटहाउस न दिए जाने और कंपनी द्वारा उनका नाम देनदारों की सूची में शामिल करने को लेकर सर्वोच्च अदालत का दरवाजा खटखटाया है। धोनी ने अपनी याचिका में कहा है कि उन्होंने रांची में अम्रपाली सफारी में एक पेंटहाउस बुक किया था।

साथ ही उन्होंने कहा है कि समूह के प्रबंधन ने उन्हें अपना ब्रांड एम्बेसडर भी बनाया था। धोनी ने कहा कि कंपनी ने उन्हें धोखा दिया है और ब्रैंड एम्बेसडर के तौर पर जो बकाया राशि थी, उसका भी भुगतान नहीं किया है। धोनी ने 2009 से 2016 तक कंपनी का प्रचार किया था। इस क्रम में वह कंपनी के कई विज्ञापनों में दिखे थे।

यह भी पढ़ें...भाजपा नेता की हत्या में वांछित इनामी बदमाश गिरफ्तार

उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी धोनी ने आम्रपाली ग्रुप के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। दरअसल, ब्रैंडिंग और मार्केटिंग के एवज में कंपनी को 40 करोड़ रुपये देने थे।

यह भी पढ़ें...हिंदू-मुस्लिम’ पहचान रखनेवाले चीता मेहरात समुदाय का चुनावी मुद्दा ‘पानी’

2009 में धोनी ने आम्रपाली ग्रुप से कई समझौते किए और कंपनी के ब्रैंड एम्बेसडर बने। वह इस समूह के साथ छह साल तक जुड़े रहे, लेकिन 2016 में जब कंपनी द्वारा ठगे गए होम बायर्स ने सोशल मीडिया पर इस विकेटकीपर के खिलाफ अभियान छेड़ दिया तो उन्होंने आम्रपाली से रिश्ता खत्म कर दिया। धोनी की पत्नी भी समूह के चैरिटी कार्यक्रम से जुडी थीं।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story