महेंद्र सिंह धोनी के सन्यास को लेकर सचिन ने कही ये बड़ी बात

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की संन्यास के बारे में कई बातें की जा रही हैं। न्यूजीलैंड से क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में इंडिया की हार के बाद इस तरह की खबरें तेज हो गई हैं।

नई दिल्ली: टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की संन्यास के बारे में कई बातें की जा रही हैं। न्यूजीलैंड से क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में इंडिया की हार के बाद इस तरह की खबरें तेज हो गई हैं।

कहा जा रहा है कि यह धोनी के वनडे करियर का आखिरी मुकाबला था और अब शायद आगे वनडे नहीं खेलेंगे। कई लोगों ने कहा कि शायद आखिरी बार धोनी को आउट होकर लौटते हुए देख रहे हैं।

ये भी पढ़ें…नहीं खुला अफगानिस्तान का खाता, आखिरी मैच में वेस्टइंडीज की जीत

वर्ल्ड कप हो सकता है धोनी का आखिरी मैच

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने भी पिछले दिनों कहा था कि वर्ल्ड कप 2019 में टीम इंडिया का आखिरी मैच धोनी का अंतिम अंतरराष्ट्रीेय मैच हो सकता है।

इसी बीच मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने धोनी के संन्यास की खबरों पर कहा कि इस बारे में फैसला धोनी को ही लेना चाहिए। उन्होंने भारतीय क्रिकेट की काफी सेवा की है। ऐसे में संन्यास के फैसले का हक उन्हें मिलना चाहिए।

एक टीवी चैनल से बातचीत में सचिन तेंदुलकर ने कहा, ‘यह उनका अपना फैसला होगा। सभी लोगों को उन्हेंफ हक देना चाहिए और इसका स्वाचगत करना चाहिए। उनके बारे में अटकलें लगाने की जगह भारतीय क्रिकेट के लिए उन्होंने जो किया है उसका सभी को सम्मान करना चाहिए। उन्होंने जो इतना कुछ किया है इसके बाद यह फैसला उनको ही लेना चाहिए’।

ये भी पढ़ें…वर्ल्ड कप 2019: धोनी के लिए ये खास चीज करना चाहते हैं रोहित शर्मा

जब तक धोनी क्रीज पर थे  तब तक बंधी थी उम्मीद

धोनी के खेल की तारीफ करते हुए तेंदुलकर ने कहा कि बहुत कम लोग ऐसे होते हैं जिनका करियर उनके जितना कामयाब होता है। वर्ल्ड कप में न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में जब तक धोनी क्रीज पर थे तब तक भारतीय फैंस ने जीत की उम्मीद नहीं छोड़ी थी।

बकौल सचिन, ‘कितने लोगों का करियर ऐसा होता है? उनका करियर स्पेशल रहा है। लोगों का उनको जो समर्थन और भरोसा है वह उनके योगदान को दिखाता है। लोगों को अभी भी उनमें यकीन है कि वह जाकर मैच जिताएंगे। जब तक वह आउट नहीं हुए थे तब वह खेल खत्म नहीं हुआ था।

ये भी पढ़ें…जानिए जब युवराज की वजह से धोनी को नहीं मिली थी बल्लेबाजी