फिक्सिंग के मामले में संगकारा से 10 घंटे तक पूछताछ, नाराज फैंस ने किया प्रदर्शन

श्रीलंका में आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप 2011 के फाइनल मुकाबले में फिक्सिंग के आरोपों की जांच तेज हो गई है।

कोलंबो: श्रीलंका में आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप 2011 के फाइनल मुकाबले में फिक्सिंग के आरोपों की जांच तेज हो गई है। गुरुवार को इस सिलसिले में फाइनल मुकाबले के दौरान श्रीलंकाई टीम के कप्तान रहे कुमार संगकारा से करीब 10 घंटे तक पूछताछ की गई। हालांकि यह खुलासा नहीं हो सका है कि संगकारा ने इस पूछताछ के दौरान क्या बातें बताईं। पूर्व खेल मंत्री महिंदानंदा अलुथगामागे ने आरोप लगाया है कि श्रीलंकाई टीम के सदस्य इस मुकाबले की फिक्सिंग में शामिल थे। पूर्व खेल मंत्री के आरोपों के बाद स्पेशल टीम को मामले की जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

ये भी पढ़ें:कानपुर हमला: CM योगी ने मांगी रिपोर्ट, UP DGP बोले- STF तैनात, ऑपरेशन शुरू

जयवर्धने भी पूछताछ के लिए तलब

गुरुवार को इस सिलसिले में पूर्व कप्तान कुमार संगकारा से 10 घंटे तक गहन पूछताछ की गई। संगकारा ने फाइनल मुकाबले के बाद टीम की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया था। संगकारा से पहले श्रीलंका के मुख्य चयनकर्ता रहे अरविंद डिसिल्वा और फाइनल मुकाबले में ओपनर बल्लेबाज उपुल थरंगा से भी पूछताछ हो चुकी है। भारत के खिलाफ खेले गए फाइनल मुकाबले में श्रीलंका के दिग्गज खिलाड़ी महेला जयवर्धने ने शतक लगाया था और अब जयवर्धने को भी पूछताछ के लिए तलब किया गया है।

फैंस ने किया बोर्ड के दफ्तर पर प्रदर्शन

संगकारा से पूछताछ के दौरान उनके फैंस ने श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ऑफिस के बाहर प्रदर्शन किया। उनका कहना था कि संगकारा ने श्रीलंकाई क्रिकेट के लिए काफी योगदान किया है और संगकारा सहित अन्य खिलाड़ियों को जानबूझकर परेशान किया जा रहा है। संगकारा के फैंस काफी देर तक उनके समर्थन में अपनी आवाज बुलंद करते रहे।

बीसीसीआई से जांच कराने की मांग

पूर्व खेल मंत्री के आरोपों के बाद अरविंद डिसिल्वा ने बीसीसीआई से भी फिक्सिंग के आरोपों की जांच कराने की मांग की थी। उनका कहना है कि यदि बीसीसीआई को जांच में मेरी जरूरत होगी तो मैं भारत आकर मदद करने को तैयार हूं।
भारत ने 28 साल बाद जीता था वर्ल्ड कप

2011 में आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप का फाइनल मुकाबला मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला गया था। इस मुकाबले में टीम इंडिया ने श्रीलंका को 6 विकेट से हराकर 28 साल बाद वर्ल्ड चैंपियन का खिताब जीता था। इस मुकाबले में श्रीलंका की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 6 विकेट पर 274 रन बनाए थे। श्रीलंका की टीम की ओर से महिला जयवर्धने ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 103 रनों की पारी खेली थी। कप्तान कुमार संगकारा ने 30 और कुलशेखरा ने 40 रन बनाकर टीम की स्थिति को मजबूत बनाया था।

ये भी पढ़ें:Live कानपुर एनकाउंटर: घटनास्थल पर पहुंचे ADG, STF ने संभाला मोर्चा

गंभीर और धोनी ने दिलाई थी जीत

श्रीलंकाई टीम के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी। लसिथ मलिंगा ने सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग को सस्ते में आउट कर श्रीलंका की स्थिति मजबूत कर दी थी मगर बाद में गौतम गंभीर और महेंद्र सिंह धोनी ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया को जीत दिला दी। गौतम गंभीर ने उस मुकाबले में 97 रन बनाए थे। धोनी ने 91 और युवराज सिंह ने 21 रनों की नाबाद पारी खेली थी। धोनी ने छक्का लगाकर टीम इंडिया को जीत दिलाई थी। धोनी का वह यादगार छक्का आज भी लोगों के दिलोदिमाग में जिंदा है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।