जानकर हो जायेंगे हैरान: पूरे वनडे करियर में एक भी छक्का नहीं लगा पाए ये खिलाड़ी

कई बल्लेबाज खराब गेंद का इंतजार करते रहते हैं। भले ही पूरी पारी समाप्त हो जाए लेकिन वे छक्का मारने में विश्वास नहीं रखते। भारत सहित दुनिया में कई क्रिकेटर हुए हैं जिनके बल्ले से छक्का बड़ी मुश्किल से निकलता था।

मुंबई: क्रिकेट के तीनों प्रारूप में हर तरह के बल्लेबाज देखने को मिलते हैं। कुछ खिलाड़ी ताबड़तोड़ खेलते हैं, तो कई ऐसे भी होते हैं जो धीमी गति से अपनी पारी आगे बढ़ाते हैं।

कुछ खिलाड़ी छक्का मारने में विश्वास नहीं रखते

कई बल्लेबाज खराब गेंद का इंतजार करते रहते हैं। भले ही पूरी पारी समाप्त हो जाए लेकिन वे छक्का मारने में विश्वास नहीं रखते। भारत सहित दुनिया में कई क्रिकेटर हुए हैं जिनके बल्ले से छक्का बड़ी मुश्किल से निकलता था। कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जिन्होंने अपने करियर में छक्का लगाया ही नहीं।

डियोन इब्राहिम 

जिम्बाब्वे के इस खिलाड़ी ने अपने टेस्ट क्रिकेट और एकदिवसीय करियर में कभी छक्का नहीं लगाया। इस खिलाड़ी ने 82 वनडे मैच और 29 टेस्ट मैच खेले थे। वनडे क्रिकेट में इब्रहीम के नाम एक शतक और चार अर्धशतक हैं। टेस्ट में उन्होंने दस अर्धशतक जड़े हैं।

ये भी देखें: इन दो चीजों से कोरोना का खतरा हो जाता है दुगुना, तुरंत बना लें दूरी

थिलान समरवीरा 

श्रीलंका के लिए समरवीरा ने लगातार रन बनाए। टेस्ट करियर में तो उन्होंने बहुत उम्दा प्रदर्शन किया था। वनडे करियर में समरवीरा ने 53 मैच खेले और दो शतक जड़े लेकिन छक्का एक बार भी नहीं लगा पाए।

मनोज प्रभाकर 

मनोज प्रभाकर बढ़िया ऑल राउंडर थे। 12 वर्ष के करियर में उन्होंने भारत के लिए 130 वनडे मैच खेले। दो शतक और 11 अर्धशतक जड़ने के बाद भी मनोज अपने एकदिवसीय करियर में एक बार भी छक्का नहीं जड़ पाए।

ये भी देखें: फंसा चीन: अमेरिकी वकील ने ठोंका 20 लाख करोड़ डॉलर का दावा, ये है घिनौना आरोप