इन 5 क्रिकेटरों के बिना अधूरे हैं विराट कोहली, ऐसे बनें ‘सुपर सक्सेस कैप्टन’

इसके अलावा कोहली ने अपने टेस्ट करियर में कई रिकॉर्ड अपने नाम किए, जबकि कई बार तमाम टीम मेंबर की वजह से भी उनको ‘सुपर सक्सेस कैप्टन’ का खिताब मिला।

इन 6 क्रिकेटरों के बिना अधूरे हैं विराट कोहली, ऐसे बनें 'सुपर सक्सेस कैप्टन'

इन 6 क्रिकेटरों के बिना अधूरे हैं विराट कोहली, ऐसे बनें 'सुपर सक्सेस कैप्टन'

पुणे: भारतीय क्रिकेट टीम और साउथ अफ्रीका के बीच हाल ही में खेला टेस्ट मैच इंडियन कप्तान विराट कोहली का कैप्टन के रूप में खेला गया 50वां टेस्ट मैच था। दिसंबर 2014 में ऐडिलेड टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कोहली ने पहली बार कप्तानी संभाली थी। वहीं, अपना बतौर कप्तान अपना 50वां टेस्ट मैच खेलने वाले कोहली दूसरे भारतीय और 17वें खिलाड़ी बन चुके हैं।

यह भी पढ़ें: सीएम योगी का फरमान: 30 अक्टूबर तक गड्ढा मुक्त होनी चाहिए प्रदेश की सड़कें

इन 50 मैचों की बात करें तो इसमें से कप्तान कोहली ने कुल 30 मुक़ाबले जीते, जबकि 10 हारे तो 10 ड्रॉ रहे। इसके अलावा कोहली ने अपने टेस्ट करियर में कई रिकॉर्ड अपने नाम किए, जबकि कई बार तमाम टीम मेंबर की वजह से भी उनको ‘सुपर सक्सेस कैप्टन’ का खिताब मिला। इसलिए आज हम आपको ऐसे 6 खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे, जिन्होंने विराट कोहली को ‘सुपर सक्सेस कैप्टन’ बनाया।

यह भी पढ़ें: PM मोदी ने कहा- सतारा मेरी गूरु भूमि, विपक्ष कर रही सावरकर को बदनाम

रविचंद्रन अश्विन

  • टेस्ट: 42
  • विकेट: 233
  • बेस्ट: 7/59
  • बोलिंग औसत: 23.42
  • 5 विकेट मैच: 18
  • 10 विकेट मैच: 5

अश्विन ने अपने टेस्ट करियर में अब तक कुल 356 विकेट अपने नाम किए हैं। सबसे खास बाते ये है कि इसमें से 233 विकेट उन्होंने विराट कोहली की कप्तानी में झटके हैं। यही वजह है कि इस लिस्ट में सबसे ऊपर अश्विन का नाम हैं। विराट को सफलता की इस मुकाम तक पहुंचाने का श्रेय अश्विन को भी जाता है।

ऋद्धिमान साहा

  • टेस्ट: 31
  • रन: 1080
  • बल्लेबाजी औसत: 31.76
  • 100s: 3
  • सर्वश्रेष्ठ स्कोर: 117
  • कैच: 77
  • स्टंपिंग: 10

साउथ अफ्रीका के खिलाफ जारी टेस्ट सीरीज में अपने कैचिंग स्किल से सभी को अचंभित करने वाले साहा ने विकेट के पीछे कमाल का प्रदर्शन किया है। चोट के बाद एक वक्त माना जा रहा था कि उनका क्रिकेट करियर खतरे में है, लेकिन उन्हें खुद को फिट करने का पूरा मौका मिला और उन्होंने मौजूदा टेस्ट सीरीज में वापसी की। हो सकता है कि उनका बल्लेबाजी औसत आकर्षक न हो, लेकिन कप्तान विराट उन्हें मौजूदा समय में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर मानते हैं।

चेतश्वर पुजारा

  • टेस्ट: 44
  • रन: 3560
  • बल्लेबाजी औसत: 52.35
  • 100s: 12
  • सर्वश्रेष्ठ स्कोर: 202

टेस्ट प्लेयर और टीम के स्टायलिश बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा इस वक़्त काफी बेहतरीन फॉर्म में हैं। इनके नाम 12 शतक हैं और कुल 44 टेस्ट मैचों में पुजारा ने 3560 रन बनाए हैं। कमाल की बात ये है कि कोहली की कप्तानी में पुजारा ने बेहतरीन परफ़ोर्म किया है। हालांकि, कई बार उनपर स्लो खेलने का आरोप भी लगा है।

जसप्रीत बुमराह

  • टेस्ट: 12
  • विकेट: 62
  • बेस्ट बोलिंग: 6/27
  • बोलिंग औसत: 19.24
  • विकेट: 5

जसप्रीत बुमराह को वनडे और टी-20 का स्पेशलिस्ट बोलर माना जाता था। उन्हें जब टेस्ट टीम में मौका मिला तो उन्होंने महज 12 मैचों की 5 पारियों में ही 5 से अधिक विकेट लेकर धमाल मचा दिया है। विराट की कप्तानी में टेस्ट डेब्यू करने वाले बुमराह सबसे तेज 50 विकेट लेने वाले भारतीय तेज गेंदबाज हैं।

मयंक अग्रवाल

  • टेस्ट: 6
  • रन: 605
  • बल्लेबाजी औसत: 60.50
  • 100s: 2
  • सर्वश्रेष्ठ स्कोर: 215

युवा बल्लेबाज मयंक अग्रवाल वो प्लेयर हैं, जिनका प्रदर्शन काफी समय से अच्छा ही है। ऐसे में जब उनको टीम की ओर से खेलने का मौका मिला तो उन्होंने खुद को साबित भी किया और विराट की कप्तानी में महज 6 टेस्ट मैचों में ही 605 रन बना डाले। इसमें दो शतक भी शामिल हैं। ऐसे में उनका प्रदर्शन काफी बेहतरीन हैं।