×

UWW vs WFI: विश्व कुश्ती में भारत को झटका, यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग ने की कार्रवाई, जाने क्या है पूरा मामला

UWW vs WFI: ध्यान देने वाली बात है कि यूडब्ल्यूडब्ल्यू ने इस साल मई में भारतीय पहलवानों की हिरासत की निंदा की थी और निर्धारित समय सीमा के भीतर चुनाव नहीं होने पर एडहॉक पैनल को निलंबित करने की धमकी दी थी।

Neel Mani Lal
Published on: 24 Aug 2023 2:50 PM GMT
UWW vs WFI: विश्व कुश्ती में भारत को झटका, यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग ने की कार्रवाई, जाने क्या है पूरा मामला
X
UWW vs WFI (Photo-Social Media)

UWW vs WFI: एशियाई खेलों और विश्व चैंपियनशिप में भारतीय पहलवानों को शायद तिरंगे की बजाए किसी तटस्थ ध्वज के तहत प्रतिस्पर्धा करने के लिए मजबूर होना पड़ सकता है। दरअसल, भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के चुनाव पिछले दो महीनों में तीन बार स्थगित होने के बाद विश्व नियामक संस्था यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग (यूडब्ल्यूडब्ल्यू) ने भारत देश में कुश्ती को चलाने वाली एडहॉक समिति को निलंबित कर दिया। यह निर्णय यूडब्ल्यूडब्ल्यू ने अपनी कार्यकारिणी बैठक के दौरान लिया। निलंबन के चलते भारत प्रमुख आयोजनों में भाग नहीं ले पायेगा।

ध्यान देने वाली बात है कि यूडब्ल्यूडब्ल्यू ने इस साल मई में भारतीय पहलवानों की हिरासत की निंदा की थी और निर्धारित समय सीमा के भीतर चुनाव नहीं होने पर एडहॉक पैनल को निलंबित करने की धमकी दी थी। यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग के बयान में कहा गया है कि - "इस वैकल्पिक सभा को आयोजित करने के लिए शुरू में निर्धारित की गई 45 दिन की समय सीमा का सम्मान किया जाएगा। ऐसा करने में विफल रहने पर यूडब्ल्यूडब्ल्यू को महासंघ को निलंबित करना पड़ सकता है, जिससे एथलीटों को तटस्थ ध्वज के तहत प्रतिस्पर्धा करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।"

न्यू इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, डब्ल्यूएफआई के एक अधिकारी ने पुष्टि की है कि यूडब्ल्यूडब्ल्यू ने तदर्थ पैनल को निलंबित कर दिया है। विश्व निकाय ने चुनाव कराने के लिए 45 दिन का समय दिया है, लेकिन उस समय सीमा का सम्मान नहीं किया गया। चुनाव कराने के बजाय इसे तीन बार स्थगित किया जा चुका है। अब इसका खामियाजा एथलीटों को भुगतना पड़ेगा।

इससे पहले जनवरी में खेल मंत्रालय ने डब्ल्यूएफआई के पद से हटा दिए गए अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच के लिए एक निगरानी समिति का गठन किया था। इसके बाद मंत्रालय ने आईओए से अप्रैल के आखिरी सप्ताह में खेल के संचालन के लिए एक तदर्थ पैनल बनाने को कहा। पैनल में वुशू एसोसिएशन ऑफ इंडिया के पूर्व प्रमुख भूपेंदर सिंह बाजवा और शूटिंग कोच सुमा शिरूर शामिल हैं।

Neel Mani Lal

Neel Mani Lal

Next Story