fame

जयपुर: यदि दोनों हाथों में भाग्य रेखा मणिबंध से प्रारंभ होकर सीधी शनि पर्वत पर जाती हो तथा सूर्य पर्वत पूर्ण विकसित, लालिमा लिए हुए हो और उस पर सूर्य रेखा भी बिना कटी-फटी, पतली और स्पष्ट हो, साथ ही मस्तिष्क रेखा, हृदय रेखा तथा आयु रेखा स्पष्ट हो तो इसे गजलक्ष्मी योग कहा जाता …

जयपुर : कहते हैं हथेली में 5 तीर्थ होते हैं देवी-देवताओं का वास होता है। हथेली का जीवन में बहुत महत्व है। खासकर इसकी रेखाओं का। हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार हथेली की सभी रेखाओं का अलग-अलग अध्ययन करने से सभी रेखाओं का विशेष महत्व माना जाता है। हथेली की रेखाओं के अध्ययन से भविष्य के …

मुंबई: भक्ति गीतों के लिए पहचाने जाने वाले गायक अनूप जलोटा बचपन से ही भजन गा रहे हैं। उनका मानना है कि भजन को लेकर लोगों के बीच गलत धारणा है। लोग समझते हैं कि भजन बुजुर्गो के लिए है, लेकिन जलोटा ने ‘निर्गुण भजन’ नामक अपना पहला अल्बम 14 वर्ष की उम्र में रिलीज …