maternal death

लखनऊ। प्रमुख सचिव चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डा. देवेश चतुर्वेदी ने प्रदेश में संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देकर मातृ मृत्यु दर को कम करने के लिए निष्क्रीय पड़ी एफआरयू को क्रियाशील बनाने के लिए लाइफ सेविंग एनेस्थीसिया स्किल (एलएसएएस) व इमरजेंसी आबस्टेट्रिक केयर (ईमाक) प्रशिक्षित चिकित्सकों की तैनाती करते हुए उनके लिए एफआरयू पर …