mythological views

अभी गणेश उत्सव चल रहा है। कहते हैं कि गणेश जी की पूजा से  समृद्धि बनी रहती है। सबसे पहले किसी भी कार्य की शुरूआत करने से पहले गणेश जी का नाम लिया जाता है क्योंकि पुराणों में कहा गया है कि गणेश जी से बुद्धिमान और सहनशील कोई नहीं है इसलिए सबसे पहले उनकी पूजा की जाती है। गणेश जी के कई नाम है

सत्व, रज व तमो गुणधारी सदाशिव की पूजा से मुक्ति के द्वार खुल जाते है। जिसमें पूरी सृष्टि समाहित है वो भगवान शिव का पूजन यदि पूरी श्रद्धा से किया जाए तो वे जल्द प्रसन्न होते हैं। शिव पूजन में छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखकर हम खुद का और अपने परिवार का कल्याण कर सकते है।शिव को पूष्प भेंट कर भी हम अपने मनोरथ पूर्ण कर सकते हैं।