pm modi

जम्मू कश्मीर अनुच्छेद 370 व 35A खत्म करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और संयुक्त राष्ट्र के महासचि के बीच यह पहली मुलाकात है।

पीएम मोदी अभी बहरीन दौरे पर हैं। उन्होंने यहां पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली को याद किया और कहा की वह उनके बहुत मित्र थे, जो उन्हे छोड़कर चले गए। वह काफी याद आएंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी G-7 बैठक के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाक़ात कर सकते हैं। इस दौरान दोनों नेता कश्मीर मुद्दे पर खुलकर चर्चा भी कर सकते हैं। इसके अलावा दोनों नेता व्यापार पर बातचीत कर सकते हैं।

'मन की बात' में पीएम मोदी ने पिछले महीने 28 जुलाई को चंद्रयान-2 को लेकर बातचीत की थी। उन्होंने हरियाणा और मेघालय में जल संरक्षण को लेकर भी चर्चा की थी। यही नहीं, पीएम मोदी ने बच्चों की रुचि विज्ञान के प्रति बढ़ाने के लिए क्विज कॉम्पीटिशन का जिक्र भी अपने भाषण के दौरान किया था।

बीजेपी में अगर किसी की बात चली तो वो सिर्फ पीएम मोदी और अमित शाह थे। इनके अलावा अगर पार्टी में किसी नेता की बात सुनी गयी तो वो अरुण जेटली थे। जेटली के बाद राजनाथ सिंह का नाम आता था। जेटली ने पीएम मोदी के लिए काफी कुछ किया।

पीएम मोदी ने इंटरव्यू के दौरान आर्थिक मंदी पर भी बातचीत की और कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत है। ऐसे में आने वाले पांच सालों में केंद्र सरकार ने 5 ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी बनने का लक्ष्य रखा है। मालूम हो, केंद्र की मोदी सरकार आर्थिक मंदी से निपटने के लिए अपना नया प्लान तैयार कर चुकी है।

साल 2017 से तेल की कीमतें लगातार तेजी से बढ़ रही थीं। मई 2018 में कर्नाटक चुनाव के दौरान ब्रेंट क्रूड के दाम तो 80 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गए थे। देश में तेल के दाम इतने बढ़ गए थे कि केंद्र सरकार को इसपर लगे टैक्स में दो बार कटौती करनी पड़ी थी।

दोनों नेता बातचीत करेंगे। साथ ही, रविवार को पीएम मोदी और शेख हमाद बिन इसा अल खलीफा जी7 शिखर बैठकों में शामिल होने के लिए फ्रांस लौटेंगे। इससे पहले दोनों नेता खाड़ी क्षेत्र में सबसे पुराने श्रीनाथजी के मंदिर के पुनरुद्धार की औपचारिक शुरुआत के गवाह भी बनेंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि काशी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र होने के अलावा हमारी सांस्कृतिक नगरी है और विगत पांच वर्ष में यहा पर अद्धभुत विकास हुआ है।

फ्रांस पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे। राजधानी पेरिस में होने वाले इस कार्यक्रम का शुभारंभ राष्ट्रगान से हुआ। 2019 के लोकसभा चुनाव में अप्रत्याशित जीत के बाद पीएम मोदी पहली बार प्रवासी भारतीयों को संबोधित करेंगे।