religious

तिथि- प्रतिपदा, वार-शनिवार,पक्ष-कृष्ण, माह-माघ, नक्षत्र- पुनर्वसु,सूर्योदय- 7.20, सूर्यास्त-17.37 । शनिवार के दिन आज से माघ मास की शुरुआत हो रही है जातक आज से माघ स्नान कर सकते है। और भगवान को तिल और गुड़ पूरे मास चढ़ाएं व दान करें। भगवान की कृपा बनी रहेगी। जानते है 12 राशियों का दिन आज कैसा गुजरेगा।

शनि ग्रह सभी सभी राशि वाले जातकों के लिए अहम होते हैं। शनि ग्रह को सभी नौ ग्रहों में न्याय के देवता के रूप में पूजा जाता है। वैसे तो सभी नौ ग्रह अपने-अपने तरीके से जातक के लिए खास होते हैं, लेकिन जब शनि ग्रह की बात आती है तो लोग ज्यादा सचेत हो जाते हैं।शनिवार के उपाय

माह – पौष, तिथि – पंचमी पक्ष – कृष्ण, वार – सोमवार, नक्षत्र-अश्लेषा, सूर्योदय-7.06, सूर्यास्त-17.26, चौघड़िया- लाभ – 07:11 से 08:27, अमृत – 09:44 से 11:00, शुभ – 13:33 से 14:49, चर – 14:49 से 16:06

माह – पौष, तिथि – तृतीया, वार – रविवार, नक्षत्र – पुष्य, सूर्योदय – 07:05,सूर्यास्त – 17:26, चौघड़िया चर – 08:27 से 09:43, लाभ – 09:43 से 11:00, अमृत – 11:00 से 12:16, शुभ – 13:32 से 14:49

हिंदू धर्म में लाल धागे को हाथ में बांधने वाले कलावे के रूप में देखा जाता है। मान्यता के अनुसार, हाथ में बंधा हुआ कलावा (रक्षा, मौली) हमेशा रक्षा करता है और बुरे संकटों से बचाता है। लेकिन इसके अलावा आर्थिक समस्याओं से लेकर धन हानि, मान सम्मान और प्रतिष्ठा बनाए रखने में लाल धागे का उपाय विशेष रूप से कारगर है।

आज घर में मेहमानों का आना जाना लगा रहेगा। इससे थोड़ी परेशानी होगी। बिजनेस के काम से बाहर जा सकते हैं। किसी नई नौकरी का अच्छे पैकेज पर ऑफर मिल सकता है।

माह – मार्गशीर्ष, तिथि – अष्टमी , पक्ष – कृष्ण, वार – बुधवार, नक्षत्र – मघा ,सूर्योदय – 06:47, सूर्यास्त – 17:25, राहुकाल – 12:06:34 से 13:26:23 तक।

गुरु और भगवान विष्णु गुरुवार का दिन समर्पित है। यह दिन कई प्रकार से व्यक्ति के जीवन की परेशानियां दूर करने में मददगार है। यह दिन लक्ष्मी प्राप्ति के लिए भी मददगार  है। जो लोग इस दिन का व्रत करते हैं। उनके सभी कार्य भगवान बृहस्पति की कृपा से पूर्ण होते हैं।

हिंदू धर्म में कार्तिक माह का बड़ा महत्व है। पूरे मास स्नान करने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं। भगवान विष्णु को ये मास बहुत प्रिय है। इस मास के आखिरी दिन कार्तिक पूर्णिमा का महत्व सारी तिथियों में अधिक है। 12 नवंबर को कार्तिक पूर्णिमा  है।इस दिन गंगा स्नान और दीपदान करना चाहिए।

माह –कार्तिक ,तिथि – चतुर्दशी , पक्ष – शुक्ल,वार – सोमवार,नक्षत्र – अश्विनी ,सूर्योदय – 06:40, सूर्यास्त – 17.29 ,चौघड़िया अमृत – 06:44 से 08:04,शुभ – 09:25 से 10:45,चर – 13:25 से 14:45,लाभ – 14:45 से 16:05