shri krishna

देश के कुछ भाग में आज 11 और 12 अगस्त को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व मनाया जा रहा है।   इस जन्माष्टमी पर मनोकामना पूर्ण करने के कुछ जरुरी टिप्स बता रहे हैं। इस जन्माष्टमी पर यदि  राशि के अनुसार पूजन करते हैं तो निश्चित ही आपको हर कार्य में सफलता प्राप्त होगी

रक्षाबंधन का त्‍योहार श्रावण मास के शुक्‍ल पक्ष की पूर्णिमा को मनाया जाता है। रक्षाबंधन को बनाने को अलग-अलग मान्यताएं हैं। रक्षाबंधन मनाने की एक मान्यता भगवान श्री कृष्ण और द्रोपदी से जुड़ी हुई है।

लॉकडाउन के कारण टीवी पर इन दिनों पुराने शोज का प्रसारण हो रहा है। लॉकडाउन शुरू होने के साथ ही दूरदर्शन पर रामायण शुरू हो गई थी। इसे फैंस ने बहुत प्यार दिया। फैंस ने शो को नंबर वन बना दिया।

वैलेनटाइन आ रहा है। लोग अपने पार्टनर के साथ इस खूबसूरत दिन को मनाने की तैयारी में लगे है। कुछ लोग इस वेलेनटाइन पर प्रमोज की सोच रहे होंगे तो कुछ पार्टनर के साथ लव मैरिज करने की सोच रहे होंगे। अब इसमें सबका आशीर्वाद कैसे मिले इस के लिए ज्योतिष से भी मदद ले सकते हैं।

श्रीकृष्ण भगवान विष्णु के अवतार है जो सोलह कलाओं से सुशोभित है। उनकी बांसुरी कला की तो पूरी दुनिया दिवानी रही है । कहते हैं कि जब कृष्ण के मुख से बांसुरी की धून निकलती थी तो जीव-निर्जीव सब झूम उठते थे। मोरपंख की तरह ही श्रीकृष्ण के हाथों में सदैव बांसुरी रहती थी।

रामायण व महाभारत दो महाग्रंथ है जो हमें जीवन जीने की कला सीखाते हैं। गीता का उपदेश श्रीकृष्ण ने अर्जुन को कुरुक्षेत्र में ही दिया था और इसी जगह महाभारत का युद्ध भी हुआ था। इस युद्ध से  जुड़े कई रहस्य हैं, जिनके बारे में बहुत कम ही लोगों को पता है।

अक्सर लोग शादी को लेकर उलझन में रहते है कि शादी करें या ना करें। अगर करें भी तो कैसी शादी करें। ज्यादातर लोगों की चाहत लव मैरिज शादी की होती है। प्रेम एक खूबसूरत अनुभूति है। जब दो दिल एक होना चाहते हैं तो समाज बीच में आता है और अड़चने पैदा होने लगती है।

23 व 24 अगस्त को यशोदा के नंदलला कृष्ण का जन्म दिवस है। इस बार भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव की तिथि दो दिन पड़ रही है। धर्म ग्रंथों के अनुसार भगवान श्रीकृष्‍ण का जन्‍म भादो महीने की कृष्‍ण पक्ष की अष्‍टमी को हुआ था, जो कि इस बार 23 अगस्त को पड़ रहा है।

 शाम होते ही निधिवन को बंद करके लोगों को यहां से बाहर निकाल दिए जाते हैं क्योंकि माना जाता है कि यहां प्रत्येक रात को श्री कृष्ण आकर गोपियों संग रासलीला करते हैं। यदि कोई व्यक्ति इन्हें देखता है तो वह अपना मानसिक संतुलन खो बैठता है या उसकी मृत्यु हो जाती है।

जिन लोगों का विवाह नहीं हो रहा हो या विवाह में विलंब हो रहा हो, उनको अच्छे जीवनसाथी के लिए माता कात्यायनी के इस मंत्र का जप  करना चाहिए, जैसे द्वापर युग में श्रीकृष्ण को पति रूप में पाने के लिए गोकुल की गोपियों ने इस मंत्र का जप किया था।