uttar pradesh news

सुप्रीम कोर्ट के आदेश की धज्जियां उड़ाता मेडिकल विश्वविद्यालय, रैगिंग के नाम से जूनियर छात्रों के सिर मुंडवाए और झुककर सलाम कराते हुए कर रहे हैं उत्पीड़न। मुलायम सिंह द्वारा बनवाये गए सैफई विश्वविद्यालय की ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं जिनको देख कर आप हैरान हो जाएंगे हैं।

मुख्य सचिव ने कहा कि महात्मा गांधी जी के जीवन और दर्शन पर आधारित चित्रकला प्रतियोगितायें कराने के साथ-साथ ‘‘नारी जागरण’’ पर आधारित कथक बैले का आयोजन भी आगामी दो अक्टूबर को कराया जाये। उन्होंने गांवों में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित कराने के साथ-साथ सामाजिक संगठनों की भी भागीदारी सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये।

योगी सरकार ने प्रदेश में प्रदूषण नियंत्रण और पर्यावरण को संरक्षित रखने के लिए एक नए प्लान को मंजूरी है। योगी सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों को चलन को बढ़ाने के लिए यूपी में 600 इलेक्ट्रानिक बसों को चलावाने की योजना को मंजूरी दी है।

यूपी एसटीएफ की टीम ने एक ऐसे गिरोह के सरगना समेत दो लोगों को पकड़ा है, जिन्होंने एयरटेल की डीडीटीएम मशीन लगवाने, टॉवर लगाने, बीमा पॉलिसी कैंसिल कराने, आईपीओ में इनवेस्ट कराकर रुपये कम समय में दोगुना कराने प्रलोभन, जीएसटी, स्टेट ट्रांजक्शन चार्ज के नाम पर लगभग 200 लोगों से पांच करोड़ की ठगी की है।

प्रदेश में उन्नाव रेप कांड का मामला लगातार गरमाता ही जा रहा है। रेप पीड़िता की कार का एक्सीडेंट होने के बाद ये मामला और भी तूल पकड़ता जा रहा है। विपक्ष इस मामले को हाथ से गवाना नहीं चाहता है। सपा, बसपा और कांग्रेस की ओर से निशाना साधा जा रहा है। 

उन्नाव रेप पीड़िता जिस कार से बीती रविवार को जेल में बंद अपने चाचा से मिलने जा रही थी, उस कार को ट्रक ने टक्कर मारी थी। ट्रक के ड्राइवर और क्लीनर दोनों के पास मोबाइल फोन था। जिस वक्त टक्कर हुई उससे पहले और टक्कर के बाद उनकी जिन-जिन नम्बरों पर बातचीत हुई। उसको लेकर कई सवाल खड़े हो रहे हैं। 

"लोग बताते हैं कि विधायक कुलदीप सेंगर के खिलाफ जब कोई भी केस लड़ने को तैयार नहीं था, उस वक्त महेंद्र सिंह रेप पीड़िता का केस लड़ने के लिए तैयार हुए थे। इस समय महेंद्र अस्पताल में जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे है।

उन्नाव रेप केस पीड़िता समेत परिवार वालों का रायबरेली में हुए सड़क हादसे के बाद प्रदेश की सियासत उबाल आ गया है। अब इसमें राजनीतिक प्रक्रियाएं भी सामने आ रही हैं। इसी क्रम में कई दिग्गज नेताओं ने योगी सरकार की कानून व्यवस्था को सवालों के घेरे में खड़ा किया है।