Top

बच्चा पैदा करना पड़ा भारी: देना पड़ा 1 करोड़ का फाइन, जानें क्या है मामला 

इस दंपति के पांच लड़के और दो लड़कियां हैं। इसलिए 34 साल की बिजनेसवूमन ज्हांग रोंग्रॉन्ग (Zhang Rongrong) और उनके 39 साल के पति को ये राशि चुकानी ही पड़ी।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 26 Feb 2021 6:39 AM GMT

बच्चा पैदा करना पड़ा भारी: देना पड़ा 1 करोड़ का फाइन, जानें क्या है मामला 
X
बच्चा पैदा करना पड़ा भारी: देना पड़ा 1 करोड़ का फाइन, जानें क्या है मामला 
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: जैसा कि आप जानते हैं कि चीन में टू चाइल्ड पॉलिसी लागू है। जिसका सभी को पालन करना आवश्यक है, लेकिन वहां के एक कपल ने इस पॉलिसी का उल्लंघन करते हुए सात बच्चे पैदा किए हैं। जिसके लिए कपल को भारी भरकम कीमत चुकानी पड़ी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस दंपति को सात बच्चे पैदा करने के लिए कुल एक लाख 55 हजार डॉलर्स यानी एक करोड़ से अधिक की राशि चुकानी पड़ी है।

सरकार को देनी पड़ी सोशल सपोर्ट फीस

इस दंपति के पांच लड़के और दो लड़कियां हैं। जिसके चलते उन्होंने सरकार को सोशल सपोर्ट फीस दी है। बता दें कि अगर वे ऐसा नहीं करते तो उनकी अन्य पांच बच्चों को सरकारी आइडेंटिटी से जुड़े दस्तावेज नहीं दिए जाते। इसलिए 34 साल की बिजनेसवूमन ज्हांग रोंग्रॉन्ग (Zhang Rongrong) और उनके 39 साल के पति को ये राशि चुकानी ही पड़ी।

यह भी पढ़ें: पाकिस्तानी एक्टर का बड़ा खुलासा, इस महिला ने किया शोषण, बाॅलीवुड पर कही ये बात

china couple (सांकेतिक फोटो- सोशल मीडिया)

क्या कहना है ज्हांग रोंग्रॉन्ग का?

Zhang का स्किनकेयर, ज्वेलरी और गार्मेंट्स का बिजनेस है। उनकी कंपनियां दक्षिण-पूर्वी चीन में स्थित हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वो कई बच्चों की ख्वाहिश रखती थीं, क्योंकि उन्हें अकेलेपन से परेशानी होती है और वो अकेले नहीं रहना चाहती हैं। ज्हांग ने बताया कि उनके पति बिजनेस के सिलसिले में जब ट्रिप पर बाहर होते हैं तो उन्हें काफी ज्यादा परेशानी होती थी।

यह भी पढ़ें:इमरान सरकार को लगा बड़ा झटका, FATF की ग्रे लिस्ट में बना रहेगा पाकिस्तान

चीन में लागू है दो बच्चों की नीति

उन्होंने बताया कि उनके बड़े बच्चे भी स्टडी के लिए दूसरे शहरों में चले गए हैं। ऐसे में उनके छोटे बच्चे ही उनके साथ रहते हैं। हालांकि ज्हांग ने कहा कि अब वो कोई भी संतान नहीं करना चाहते हैं। उन्होंने बताया इन बच्चों को पैदा करने से पहले हमने ये सुनिश्चित किया था कि हम फाइनेंशियली संपन्न रहें, जिससे बच्चों को आर्थिक सेफ्टी दे पाएं। गौरतलब है कि अब चीन में वन चाइल्ड पॉलिसी खत्म कर दी गई है और अब वहां दो बच्चों की नीति लागू है।

यह भी पढ़ें: अमेरिकी का एयरस्ट्राइक: इस देश पर जबर्दस्त हमला, तहस नहस कर दिया सब कुछ

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story