Top

हवा में काफी उंचाई पर था विमान तभी स्टेयरिंग छोड़ खड़ा हो गया पायलट, आगे हुआ ये

इंडिगो एयरलाइंस से जुडी एक बड़ी खबर आ रही है। पुणे से दिल्ली आ रहे इंडिगो एयरलाइंस के एक विमान का स्टेयरिंग पायलट के बजाय एक यात्री ने संभालकर उसे इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सकुशल उतारा।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 2 Dec 2019 11:15 AM GMT

हवा में काफी उंचाई पर था विमान तभी स्टेयरिंग छोड़ खड़ा हो गया पायलट, आगे हुआ ये
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली:इंडिगो एयरलाइंस से जुडी एक बड़ी खबर आ रही है। पुणे से दिल्ली आ रहे इंडिगो एयरलाइंस के एक विमान का स्टेयरिंग पायलट के बजाय एक यात्री ने संभालकर उसे इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर सकुशल उतारा।

बताया जा रहा है कि इस घटना के पीछे दिल्ली एयरपोर्ट पर घनी धुंध के कारण बन गई कम दृश्यता की परिस्थितियां जिम्मेदार थीं। विमान संभाल रहे पायलट को इन परिस्थितियों का पर्याप्त अनुभव नहीं होने के कारण एयरलाइंस ने जिस यात्री से विमान संभालने का आग्रह किया था, वह भी एक पायलट है और इस तरह की परिस्थितियों में विमान उड़ाने के लिए प्रशिक्षित होने के साथ ही पर्याप्त अनुभवी भी थे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इंडिगो एयरलाइंस की फ्लाइट संख्या 6ई-6571 ने पुणे से दिल्ली के लिए उड़ान भरनी थी। यात्रियों के पुणे एयरपोर्ट पर विमान में बैठने के दौरान ही दिल्ली एयरपोर्ट पर सीजन का पहला कोहरा फैलने की सूचना एयरलाइंस प्रबंधन को मिली।

ये भी पढ़ें...डोमेस्टिक और इंटरनेशनल यात्रियों के लिए इंडिगो का सबसे चीप एंड बेस्ट ऑफर

ये थी वजह

बताया गया कि दिल्ली एयरपोर्ट पर विमान उड़ाने के लिए बेहद कम दृश्यता की स्थिति है और इन परिस्थितियों में कैट-3बी का प्रशिक्षण ले चुके पायलट को ही विमान उड़ाना चाहिए। लेकिन फ्लाइट के एक पायलट के पास यह प्रशिक्षण नहीं था।

सूत्रों का कहना है कि इसी फ्लाइट से इंडिगो के एक अन्य कैप्टन अपनी ड्यूटी खत्म होने के बाद दिल्ली में अपने घर लौट रहे थे। इन कैप्टन के पास कैट-3बी प्रशिक्षण और कोहरे में विमान उड़ाने का पर्याप्त अनुभव था।

इस कारण यात्रियों को असुविधा से बचाने के लिए एयरलाइंस प्रबंधन ने इस यात्री पायलट से ही विमान उड़ाने का आग्रह किया। इसक बाद ही विमान उड़ान भरकर दिल्ली पहुंच पाया। एयरलाइंस की तरफ से इस बारे में कोई अधिकृत बयान जारी नहीं किया गया है।

ये भी पढ़ें...दिल्ली एयरपोर्ट पर टला बड़ा हादसा, इंडिगो बस की खिड़की का टूटा शीशा, 5 यात्री घायल

टेस्ट से पड़ा था गुजरना

एयरलाइंस सूत्रों के मुताबिक, यात्री पायलट को सीधे कॉकपिट में प्रवेश नहीं दिया गया बल्कि उन्हें पहले ब्रीथ एनेलाइजर समेत उन सभी अनिवार्य टेस्ट से गुजरना पड़ा, जो विमान उड़ाने से पहले पायलट को देने पड़ते हैं।

इसके अलावा विमान का कैप्टन बदलने के लिए सभी तरह की आंतरिक मंजूरियां भी ली गईं और उनका नाम रोस्टर में भी शामिल कराया गया। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) को भी हालात की जानकारी दी गई।

हालांकि यात्री कैप्टन को बिना यूनिफार्म के ही कॉकपिट में प्रवेश करना पड़ा। माना जा रहा है कि इसके लिए डीजीसीए एयरलाइंस पर जुर्माना लगा सकता है।

ये भी पढ़ें...दुबई में प्लेन की क्रैश लैंडिंग, गुवाहाटी में दो फ्लाइट टकराने से बचे

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story