भीषण सड़क हादसा: 3 की हुई दर्दनाक मौत, CM ने किया मुआवजे का एलान

एक अनियंत्रित ट्रक वहां से गुजरा जो जो हाइवे के नीचे सो रहे इन यात्रियों को कुचलते हुए दीवार से जा कर लड़ गया। जिससे 2 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई

मिर्जापुर: थाना लालागंज के बसही गांव में हुई दुर्घटना में तीन यात्रियों के मौत होने से हड़कम्प मच गया। गुरुवार की रात्रि में मुम्बई से गोपालगंज बिहार के लिये इनोवा से यात्रा कर रहे थे। कार में सवार सात यात्री नींद आने के कारण बसही गाँव के पास एक मकान के पास सड़क से लगभग 40 फुट की दूरी पर रुक कर सो रहे थे। तभी एक अनियंत्रित ट्रक वहां से गुजरा जो जो हाइवे के नीचे सो रहे इन यात्रियों को कुचलते हुए दीवार से जा कर लड़ गया। जिससे 2 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि एक की अस्पताल ले जाते समय जान चली गई।

स्टेयरिंग फेल होने से अनियंत्रित हुआ ट्रक

बाद में ट्रक ड्राईवर से पूछ्ताछ करने पर पता चला कि ट्रक डीबीएल कम्पनी में लागा हुआ है। ड्राईवर ने बताया कि उसके ट्रक का स्टेयरिंग फेल हो गया जिसके कारण उसका ट्रक अनियंत्रित होकर हाइवे से नीचे उतर गयाऔर सड़क किनारे सो रहे लोगों के ऊपर चढ़ गया। जिसमें चार लोगों में से दो लोगो की मौके पर ही मृत्यु हो गयी थी। एक व्यक्ति की अस्पताल लाते समय मृत्य हो गयी। इस प्रकार कुल मृतकों की संख्या तीन हो गयी। एक यात्री को हलकी चोट आयी थी। जिसका इलाज करवा दिया गया है।

ये भी पढ़ें-    झांसी का स्थान 10 वां, आरोग्य सेतु एप डाउनलोड में प्रदेश में हुआ आगे

इन सभी के सम्बंधित जिले के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक से डीएम ने वार्ता की। उसके बाद घटनास्थल का निरीक्षण आयुक्त, आईजी के द्वारा भी कर लिया गया है। मृतकों के चार अन्य साथी थे। उनसे भी वार्ता की गयी है। मृतकों का पोस्टमार्टम करवाने के उपरान्त अन्य चार यात्रियों को गोपालगंज और बैशाली जाने के लिये गाड़ी की व्यवस्था कर दी गयी है। जिसमें एक व्यक्ति को मेडिकल सुविधा चाहिए थी। उसे भी उपलब्ध करा दिया गया है। सभी मृतक के परिवार के द्वारा भी सूचना मिली है कि वे वाराणसी से मीरजापुर के लिये आ रहे। इसके उपरान्त उन्हें जो भी मदद की आवश्यकता होगी की जायेगी।

ब्याज पर उधार लेकर घरवालो ने पैसे भेजकर बुलाया था वापस

प्रवासी मजदूर मुन्ना सिंह से बात करने पर बताया कि मुंबई के अंधेरी मीरा रोड में रहकर मजदूरी का कार्य करते थे। हर महीने 10 हजार रुपये कमा लेते थे। लेकिन मुंबई के अंधेरी में जब कोरोना वायरस अपना पैर पसारने लगा तो हम डर गए। जिसके बाद हम लोगों ने अपने घर वालों से कर्ज लेकर ब्याज पर 70 हजार रुपया मंगाया। उसके बाद इनोवा गाड़ी किराए पर लेकर 20 मई को दोपहर में वहां से घर के लिए रवाना हो गए।

ये भी पढ़ें-   BJP नेता का निधन: पार्टी में शोक की लहर, पूर्व सांसद भी रह चुके हैं

लेकिन लालगंज में हम सभी भाइयो को नींद आने लगी तो ड्राइवर से कहा कि थोड़ा आराम कर लेने के बाद फिर चलेंगे। ड्राइवर ने गाड़ी बसही गाँव मे रोक दी। हम चार भाई सड़क से 40 फिट दूर आराम करने लगे। रात का समय था कि अचानक से हाइवा ट्रक हमारे चचेरे भाइयो अमित सिंह, सौरभ सिंह, राजीव सिंह को रौंदते हुए दीवाल में टक्कर मार दी जिससे उन सबकी मौत हो गयी।

मुख्यमंत्री ने की मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख की आर्थिक मदद की घोषणा

ये भी पढ़ें-   पूरी दुनिया में आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है इजराइल: मौ. कल्बे जव्वाद

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुंबई से गोपालगंज बिहार जा रहे प्रवासी कामगारों का जिले के लालगंज थाना क्षेत्र में एक हाइवा के कुचलने से तीन लोगों की मौत जैसी दुर्घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया है। साथ उत्तर के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख की आर्थिक मदद करने का निर्देश भी दिया है। वहीं हादसे में घायलों का समुचित इलाज कराने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने दिवंगतों के पार्थिव शरीर बिहार तक पहुचाने का निर्देश दिया है।

बृजेन्द्र दुबे