UP में चलती ट्रेन से गायब हुए 338 प्रवासी मजदूर, मचा हड़कंप, जांच में जुटा प्रशासन

उत्तर प्रदेश के बांद से चौंकाने वाली खबर सामने आई है। वडोदरा से बांदा पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन में सवार 1,908 में से 338 लोग चलती ट्रेन से गायब हो गए हैं। यह मामला सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है।

प्रतीकात्मक तस्वीर

बांदा: उत्तर प्रदेश के बांद से चौंकाने वाली खबर सामने आई है। वडोदरा से बांदा पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन में सवार 1,908 में से 338 लोग चलती ट्रेन से गायब हो गए हैं। यह मामला सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है। अब दोनों राज्यों का प्रशासन गायब हुए प्रवासी कामगारों की तलाश में जुट गया है। 22 सामान्य डिब्बों की ट्रेन गुजरात के वडोदरा स्टेशन से मंगलवार को 1,908 प्रवासी मजदूरों को लेकर बांदा के लिए रवाना हुई थी। प्रवासियों को बाकायदा स्क्रीनिंग करके ट्रेन में बैठाया गया था।

सभी यात्रियों की जानकारी के साथ इसका एक पत्र अपर कलेक्टर वड़ोदरा डीआर पटेल द्वारा स्थानीय प्रशासन को भेजा गया था। जब ट्रेन बांदा पहुंची तो 1,908 प्रवासियों की जगह 1,570 लोग ही बांदा पहुंचे। चलती ट्रेन से लोग नदारद पाए गए, ऐसे में प्रशासन पर भी सवाल खड़े किए जा रहे हैं। रेलवे प्रशासन सकते में है।

यह भी पढ़ें…ब्रह्मलीन हुए यूपी के संत बाबा प्रकाश दास, सारे ऐशोआराम छोड़कर लिया था सन्यास

वडोदरा से सवार 1,908 मजदूरों में से सिर्फ 1,570 यात्री ही बुधवार सुबह बांदा रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। बाकी 338 लोग कहां गायब हैं, इसके बारे में किसी को कुछ नहीं पता। कहा जा रहा था कि पुख्ता स्वास्थ्य जांच और पड़ताल के बाद ही श्रमिकों को ट्रेनों से उनके गृह राज्यों में भेजा रहा है। बांदा प्रशासन इस संबंध में गुजरात प्रशासन से संपर्क कर गुमशुदा यात्रियों की जानकारी जुटाने की कोशिश में लगा है।

यह भी पढ़ें…रेड जोन की ओर बढ़ा यूपी का ये जिला, दूसरे जिलों के नहीं भर्ती होंगे कोरोना संक्रमित

गुजरात के वडोदरा शहर से मंगलवार को 22 डिब्बों की एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन बांदा के लिए चली थी, जिसमें गुजरात प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराई सूची के मुताबिक उत्तर प्रदेश के 48 जिलों के 1908 यात्री स्वास्थ परीक्षण के बाद सवार हुए थे। नॉन स्टॉप ट्रेन का रास्ते मे कोई ठहराव नहीं था और यह बुधवार सुबह सीधे बांदा रेलवे स्टेशन आकर रुकी, जिसमें गिनती के बाद सिर्फ 1570 यात्री ही पहुंचे।

यह भी पढ़ें…दरोगा ने की पत्रकार के साथ अभद्रता, वीडिओ वायरल, डीएम ने जांच के लिए गठित किया टीम

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मंडलायुक्त गौरव दयाल ने इस बार में बताया है कि वडोदरा-बांदा श्रमिक स्पेशल ट्रेन में बुधवार को यहां 48 जिलों के 1570 लोग आए, जबकि भेजी गई सूची में 1908 यात्रियों की जानकारी दी गई थी। पहुंचे लोगों की स्क्रीनिंग कर उन्हें अलग-अलग जिलों के लिए भेज दिया गया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा कि हम वहां के प्रशासन से इस संबंध में संपर्क साध कर जानकारी जुटा रहे हैं। उन्होंने आशंका जताते हुए कहा कि हो सकता है कि वह लोग वहां से ट्रेन में बैठे ही ना हुए हों या तो सूची में ही गलतियां हों।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App