Top

राज्यसभा में गरजे संजय सिंह: खुद पर लगे राजद्रोह का उठाया मामला, घेरा सरकार को

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह और यूपी सरकार के बीच चल रही सियासी रार अब बढ़ती जा रही है। यूपी सरकार ने जहां आप सांसद के खिलाफ 13 मुकदमों के साथ ही राजद्रोह का आरोप भी लगा दिया है

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 18 Sep 2020 8:02 AM GMT

राज्यसभा में गरजे संजय सिंह: खुद पर लगे राजद्रोह का उठाया मामला, घेरा सरकार को
X
राज्यसभा सभापति ने दिया है कार्यवाही का भरोसा: संजय सिंह (file photo)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह और यूपी सरकार के बीच चल रही सियासी रार अब बढ़ती जा रही है। यूपी सरकार ने जहां आप सांसद के खिलाफ 13 मुकदमों के साथ ही राजद्रोह का आरोप भी लगा दिया है तो वहीं आप सांसद ने भी ये मामला राज्यसभा में उठा दिया है। अहम बात यह है कि कांग्रेस, एनसीपी, सपा, शिवसेना, टीएमसी, डीएमके, आरजेडी, सीपीएम तथा अकाली दल के 30 सांसदों ने आप सांसद का समर्थन किया। आप सांसद संजय सिंह ने न्यूजट्रैक को बताया कि राज्यसभा सभापति ने इस प्रकरण में सदन को कार्यवाही का भरोसा दिया।

ये भी पढ़ें:यूपी पुलिस ने आप सांसद संजय सिंह को भेजा राजद्रोह का नोटिस

योगी सरकार पर जातिवादी होने का आरोप लगाया

दरअसल, पिछले करीब दो माह से यूपी की राजनीति में अचानक सक्रिय हुए आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद व यूपी प्रभारी संजय सिंह यूपी की योगी सरकार के खिलाफ लगातार मोर्चा खोले हुए है। आप सांसद ने यूपी की योगी सरकार पर जातिवादी होने का आरोप लगाते हुए लगातार हो रही ब्राहम्णों की हत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया तो यूपी पुलिस ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए उनके पार्टी कार्यालय पर ताला डलवा दिया। कार्यालय पर ताला डलवाये जाने के बाद संजय सिंह और मुखर हो गए और उन्होंने एक यूपी की योगी सरकार के जातिवादी होने के संबंध में एक फोन सर्वे करवाया।

यूपी पुलिस ने संजय सिंह के खिलाफ आईटी एक्ट और राजद्रोह के मामला दर्ज करवा दिया

इस मामलें में भी यूपी पुलिस ने संजय सिंह के खिलाफ आईटी एक्ट और राजद्रोह के मामला दर्ज करवा दिया। इस पर आप सांसद ने प्रेसवार्ता कर अपने सर्वे के नतीजे बताते हुए कहा कि दो दिन के भीतर लाखों लोगों को सर्वे के लिए कॉल किए गए। जिसमें 63 प्रतिशत लोगों ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ठाकुरों के लिए काम कर रही है। एक जाति की सरकार चल रही हैं। 09 प्रतिशत लोगों ने जवाब देने से मना कर दिया और 28 प्रतिशत लोगों ने कहा कि योगी सरकार ठाकुरों के लिए काम नहीं कर रही है।

[video width="584" height="270" mp4="https://newstrack.com/wp-content/uploads/2020/09/WhatsApp-Video-2020-09-18-at-1.04.32-PM.mp4"][/video]

योगी सरकार पर कोरोना घोटाला करने का आरोप लगा दिया

इसके बाद संजय सिंह ने भाजपा के लम्भुआ विधायक देवमणि दुबे के मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजे गए पत्र का हवाला देते हुए तय दाम से अधिक कीमत पर आक्सीमीटर, थर्मामीटर व अन्य चिकित्सकीय उपकरण खरीदे जाने का आरोप लगाते हुए योगी सरकार पर कोरोना घोटाला करने का आरोप लगा दिया। इसके अलावा संजय सिंह ने उन्हे सीतापुर में पुलिस द्वारा जबरन डिटेन किए जाने के मामलें को भी राज्यसभा में उठाते हुए इसे एक सांसद के अधिकारों का हनन बताया है।

ये भी पढ़ें:हादसे से हिली सरकार: भरभराकर गिरा ये पुल, सेकेंडों में करोड़ों रूपये बर्बाद

इधर, योगी सरकार भी संजय सिंह के खिलाफ लगातार कार्यवाही करती जा रही है। मौजूदा समय में संजय सिंह के खिलाफ यूपी के विभिन्न शहरों में 13 मुकदमें दर्ज हो चुके है।

मनीष श्रीवास्तव

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story