×

जन्मतिथि विवाद : आजम खान के बेटे अब्दुल्ला ने हाईकोर्ट में दर्ज कराया बयान

अब्दुल्ला ने कहा कि उनका जन्म क्वीन मैरी हॉस्पिटल लखनऊ में हुआ था। जन्म तिथि 30 सितम्बर 1990 को हुआ था। बयान अधिवक्ता एन के पांडेय से दर्ज कराया।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 26 Aug 2019 1:58 PM GMT

जन्मतिथि विवाद : आजम खान के बेटे अब्दुल्ला ने हाईकोर्ट में दर्ज कराया बयान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

प्रयागराज: स्वार के सपा विधायक अब्दुल्ला आजम खां ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में अपना बयान दर्ज कराया। उन्होंने कहा कि जब वह एमटेक कर रहे थे तो हाईस्कूल सहित अन्य प्रमाणपत्रों में दर्ज जन्म तिथि परिवर्तन की सीबीएससी बोर्ड को अर्जी दी थी जो अभी लंबित है। पासपोर्ट पर जन्म तिथि संशोधित हो चुकी है।

अब्दुल्ला ने कहा कि उनका जन्म क्वीन मैरी हॉस्पिटल लखनऊ में हुआ था। जन्म तिथि 30 सितम्बर 1990 को हुआ था। बयान अधिवक्ता एन के पांडेय से दर्ज कराया।

पारिवारिक मित्र साहजेब ने भी कहा कि वे अब्दुल्ला का नर्सरी कक्षा में प्रवेश कराने गये थे। अध्यापक ने जन्म तिथि स्वयं दर्ज कर ली। नवाब काजिम अली की चुनाव याचिका की सुनवाई न्यायमूर्ति एस पी केशरवानी कर रहे है।

ये भी पढ़ें...जानिए कहां बच्चा चोरी के आरोप में भीड़ ने महिला को बेरहमी से पीटा?

क्या है ये पूरा मामला

रामपुर के नवाब काजिम अली ने स्वार से विधायक अब्दुल्ला आजम के खिलाफ हाईकोर्ट में चुनाव याचिका दाखिल की थी। उन्होंने अब्दुल्ला के चुनाव लड़ने की योग्यता पर सवाल उठाए थे।

आरोप लगाया कि अब्दुल्ला ने गलत जन्मतिथि दर्ज कराकर चुनाव लड़ा है। एक में उनका जन्म लखनऊ तो दूसरे में घेर मीर बाज खां, जेल रोड, रामपुर दिखाया गया है। दोनों में जन्म तिथि अलग अलग है। इस आधार पर उनके निर्वाचन को रद्द किए जाने की मांग की गई है।

ये भी पढ़ें...जानिए कौन हैं इरमीम? जिसकी आज हर चौक–चौराहे पर हो रही चर्चा

नौ गवाहों के दर्ज हो चुके हैं बयान

जस्टिस एसपी केशरवानी की एकलपीठ मामले की सुनवाई कर रही है। 31 जुलाई को हुई सुनवाई में कोर्ट ने 26 अगस्त को बयान दर्ज करने के लिए उन्हें तलब किया था। इससे पहले अब्दुल्ला की मां ताजीन फातिमा, डॉक्टर उमा, विद्यालय के प्रधानाचार्य सहित कुल 9 गवाहों के बयान दर्ज किए जा चुके हैं।

11 सितंबर को अब अगली सुनवाई

सोमवार को अब्दुल्ला का बयान अधिवक्ता एनके पांडेय से दर्ज कराया गया। पारिवारिक मित्र साहजेब ने भी कहा कि वे अब्दुल्ला का नर्सरी कक्षा में प्रवेश कराने गए थे। उन्होंने कहा कि अध्यापक ने जन्मतिथि स्वयं दर्ज कर ली। अब 11 सितम्बर को इस मामले की अगली सुनवाई होगी।

ये भी पढ़ें...तो ये है SPG सुरक्षा! नहीं इसका कोई तोड़, X से Z तक भी कम नहीं इससे

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story