Top

सेप्टिक टैंक में 5 की मौत: डिप्टी सीएम ने मृतकों के परिजनों को सौंपे 2-2 लाख के चेक

उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने प्रतापपुरा गांव पहुंचकर पीड़ित परिजनों को ढांढस बंधाया। साथ ही मृतकों के परिजनों को मुआवजे के तौर पर दो दो लाख का चेक सौंपा।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 20 March 2021 12:24 PM GMT

सेप्टिक टैंक में 5 की मौत: डिप्टी सीएम ने मृतकों के परिजनों को सौंपे 2-2 लाख के चेक
X
सेप्टिक टैंक में 5 की मौत: मुआवजे का एलान, मृतकों के परिजनों को मिलेंगे 2-2 लाख
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा: फतेहाबाद के सेप्टिक टैंक की सफाई करने के दौरान जान गंवाने वाले पांच युवकों के परिजनों से मिलने के लिए उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा अपने काफिले के साथ प्रतापपुरा गांव पहुंचे। उन्होंने यहां परिवार से मुलाकात करने और शोक संवेदना जताने के बाद मृतक युवकों के पीड़ित परिजनों को मुआवजे के तौर पर दो-दो लाख रुपये के चेक सौंपे।

उपमुख्यमंत्री ने पीड़ित परिजनों को दी सांत्वना

उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने प्रतापपुरा गांव पहुंचकर पीड़ित परिजनों को ढांढस बंधाया। साथ ही मृतकों के परिजनों को मुआवजा के तौर दो दो लाख का चेक दिया है। उप मुख्यमंत्री के आगरा आगमन की एक वजह मृतक युवकों के परिजनों के शोक संवेदना जताने की बताई जा रही है। इस दौरान उनके साथ सांसद राजकुमार चाहर समेत कई माननीय और अधिकारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: सहारनपुर: मुठभेड़ में 50000 का इनामी बदमाश गिरफ्तार, गैंगस्टर समेत कई केस दर्ज

septic tank (फोटो- सोशल मीडिया)

जानें क्या है पूरा मामला

गौरतलब है कि पिछले दिनों फतेहाबाद के सेप्टिक टैंक में सफाई करने के दौरान पांच सफाई कर्मी जहरीली गैस की वजह से दम घुटने से मर गए थे। इससे गांव में शोक की लहर दौड़ गई थी। ग्रामीणों ने नम आंखों से पांचों शवों का एक साथ अंतिम संस्कार कर दिया था। इस दौरान वहां हर आंख नम थीं।

दरअसल, आगरा जिले के फतेहाबाद थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम प्रतापपुरा में मंगलवार को 10 साल का एक बच्चा खेलते समय शौचालय के गड्ढे में गिर गया। जिसे बचाने के लिए एक के बाद एक चार लोग गड्ढे में कूद गए। हालांकि कोई बाहर नहीं आ सका और अंदर ही बेहोश हो गए। बाद में सबको निकाल कर अस्पाल में भर्ती करवाया गया लेकिन बच्चे समेत तब तक पांचों की मौत हो चुकी थी।

रिपोर्ट- प्रवीन शर्मा

यह भी पढ़ें: महंगाई वाला कोरोना: अफवाहों का बाजार गर्म, जरूरी चीजों के लिए शुरू हुई मारामारी

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story