सपा ने लगाया झांसी में फर्जी मुठभेड़ का आरोप, पुष्पेंद्र के घर जाएंगे अखिलेश

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव गुरुवार नौ अक्टूबर को पुलिस मुठभेड़ में मारे गए पुष्पेंद्र यादव के परिजनों से मिलने के लिए झांसी जाएंगे। सोमवार को समाजवादी पार्टी ने ट्वीट करके झांसी पुलिस पर फर्जी एनकाउंटर करने का आरोप लगाया और अखिलेश के कार्यक्रम की जानकारी दीं।

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव गुरुवार नौ अक्टूबर को पुलिस मुठभेड़ में मारे गए पुष्पेंद्र यादव के परिजनों से मिलने के लिए झांसी जाएंगे। सोमवार को समाजवादी पार्टी ने ट्वीट करके झांसी पुलिस पर फर्जी एनकाउंटर करने का आरोप लगाया और अखिलेश के कार्यक्रम की जानकारी दीं।

सपा अध्यक्ष ने झांसी के मोंठ क्षेत्र में पुष्पेन्द्र यादव के फर्जी एन्काउंटर को दुखद बताते हुए कहा कि बीती पांच अक्टूबर की रात को 20 वर्षीय पुष्पेन्द्र की गोली मारकर हत्या कर दी गई और मृत शरीर को घटना स्थल से दूर ले जाकर गुरसहाय थाना क्षेत्र में ग्राम फरीदा के पास फर्जी मुठभेड़ दिखा दी गई। उन्होंने कहा कि पुष्पेन्द्र का कोई अपराधिक इतिहास नहीं था।

यह भी पढ़ें…दशहरा स्पेशल: भगवान राम के लिए रावण ने किया था यज्ञ, जानिए क्यों

इधर, मोंठ पुलिस के मुताबिक गुरसराय इलाके में पुलिस टीम को देखकर पुष्पेंद्र ने फायरिंग कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में गोली लगने से पुष्पेंद्र घायल हो गया। घायल आरोपी को लेकर पुलिस जिला अस्पताल पहुंची, जहां डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें…ऐसे हुआ खुलासा! रची गई थी सुखबीर सिंह बादल की हत्या की साजिश

खबर है कि शनिवार की रात मोंठ इंस्पेक्टर कानपुर से अपनी कार से मोंठ आ रहे थे। इस दौरान पुष्पेंद्र ने रास्ते में उनको फोन कर कहा कि वह मिलना चाहता है, इस पर इंस्पेक्टर ने मोंठ से पहले हाइवे पर मिलने के लिए कहा। जैसे ही वहां कार से इंस्पेक्टर पहुंचे खनन माफिया ने फायरिंग कर दी लेकिन गोली उनके बगल से निकल गई। इसके बाद माफिया और उसके साथी ने इंस्पेक्टर पर हमला कर दिया। घटना की जानकारी पाकर डीआईजी सुभाष सिंह बघेल, एसएसपी डा. ओपी सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक देहात राहुल मिठास समेत कई थानों का फोर्स मौके पर पहुंच गई।

यह भी पढ़ें…केंद्र ने गांधी परिवार के SPG नियमों को किया सख्त, तोड़ा तो रद्द होगी सुरक्षा

एसएसपी डाॅ. ओपी सिंह ने बताया कि दो दिन पहले मोंठ इंस्पेक्टर ने एक बालू माफिया की गाड़ी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए सीज कर दी थी। इसके बाद बदमाशों ने इस घटना को अंजाम दिया है। एसएसपी ने बताया कि बदमाशों की तलाश में छापेमारी की जा रही है। जबकि इंस्पेक्टर की हालत स्थिर बताई जा रही है।