हिंसक प्रदर्शन: सीएए के विरोध की आंच दिल्ली से अलीगढ़ तक

यहां ऊपरकोट में प्रदर्शन जारी है जबकि शाहजमाल में हालात बेकाबू हो रहे हैं। जुलूस की शक्ल में सैकड़ों लोग सड़कों पर हैं। प्रदर्शन करने जा कुछ युवकों ने तुर्कमान गेट पर प्राचीन नवदुर्गा पथवारी मंदिर पर पथराव कर दिया। जिससे बाद से यहां के हालात बेहद तनावपूर्ण हो गए हैं।

  1. अलीगढ़: दिल्ली के शाहीन बाग में सीएए का विरोध प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है। वहीं आज उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में भी हिंसक घटना होने की खबर आ रही है। जिसके कारण पुलिस घटनास्थल पर मौजूद है। अलीगढ़ के जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने कहा कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) की कुछ महिला छात्र इसके पीछे हैं, हम उनकी पहचान करने की कोशिश कर रहे हैं। हम दंगाइयों से होने वाले नुकसान का पता लगा रहे हैं और हुए नुकसान को प्रदर्शनकारियों से वसुला जाएगा। घटना के बारे में कहा कि स्थिति अब नियंत्रण में है। चौबीस घंटे के लिए इंटरनेट बंद कर दी गई है।

 

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का हिंसक विरोध एक बार फिर यूपी के अलीगढ़ में देखने को मिला है। देश की राजधानी दिल्ली से उठी विरोध की आंच से यूपी का अलीगढ़ एक बार फिर सुलगा है।

रविवार को यहां ऊपरकोट में प्रदर्शन जारी है जबकि शाहजमाल में हालात बेकाबू हो रहे हैं। जुलूस की शक्ल में सैकड़ों लोग सड़कों पर हैं। प्रदर्शन करने जा कुछ युवकों ने तुर्कमान गेट पर प्राचीन नवदुर्गा पथवारी मंदिर पर पथराव कर दिया। जिससे बाद से यहां के हालात बेहद तनावपूर्ण हो गए हैं।

ये भी पढ़ें—शाहीन बाग पर बीजेपी नेता की चेतावनी, जाफराबाद को नहीं बनने देंगे ऐसा

जानकारी के अनुसार अलीगढ़ में दोपहर के बाद हालात बिगड़ गए। ऊपरकोट पर हालात सामान्य करने में जुटी पुलिस पर भी पथराव की खबर है। ज्यादा पथराव होने पर गुस्साई पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़ दिए। वहां मौजूद लोगों में भगदड़ मच गई।

तुर्कमान गेट पर प्राचीन नवदुर्गा पथवारी मंदिर पर पथराव

File Pic

सीएए के विरोध में शााहजमाल ईदगाह के सामने सीएए के विरोध में जारी प्रदर्शन में रविवार को हालात लगातार बेकाबू होते जा रहे हैं। यहां पर करीब आठ हजार से अधिक महिला और पुरुष लोग जुटे हुए हैं। महिलाओं, बच्चों और पुरुषों की टोलियां लगातार नारेबाजी करते हुए क्षेत्र में भ्रमणशील हैं। ऊपरकोट कोतवाली के सामने भी धरना प्रदर्शन जारी है और लगातार सरकार विरोधी नारेबाजी की जा रही है।

ये भी पढ़ें—चुनाव से पहले बिहार में गरमाई सियासत, रैली में तेजप्रताप ने दी धमकी

देहलीगेट और ऊपरकोट इलाके में सुबह से जारी जुलूस प्रदर्शनों में भीम आर्मी के कार्यकर्ता भी शामिल रहे। पूरे हालात पर नजर रखते हुए जिला प्रशासन की ओर से हर एक घंटे की रिपोर्ट भी शासन को भेजी जा रही है।