×

CM योगी का ऐलान: आधार कार्ड की चिंता खत्म, इसके बिना मिलेगी ये सुविधाएं

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में कोरोना से जुड़े सभी उपायों और कार्यों का प्रबंधन कर रही वरिष्ठ अधिकारियों की टीम-11 के साथ बैठक में यह आदेश दिया।

Vidushi Mishra
Updated on: 17 April 2020 12:29 PM GMT
CM योगी का ऐलान: आधार कार्ड की चिंता खत्म, इसके बिना मिलेगी ये सुविधाएं
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ। कोरोना वायरस के कारण लागू लाकडाउन में दिहाड़ी यूपी में राशन कार्ड और आधार कार्ड नहीं होने पर भी जरूरतमंदों को राशन मिलेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में कोरोना से जुड़े सभी उपायों और कार्यों का प्रबंधन कर रही वरिष्ठ अधिकारियों की टीम-11 के साथ बैठक में यह आदेश दिया।

ये भी पढ़ें...यूपी के छात्रों अलर्ट, तीन हफ्ते क्लास और फिर देना है एग्जाम

हर जरूरतमंद को राशन

उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी इस बात का ध्यान रखें कि प्रदेश में कोई भूखा न रहे। उन्होंने कहा कि 30 जून तक सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के जरिये हर जरूरतमंद को राशन दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के पास राशन कार्ड या आधार नहीं है, उन्हें भी राशन मिलेगा।

उन्होंने कहा कि कम्युनिटी किचन और शेल्टर होम संचालन की उत्तम व्यवस्था आने वाले समय में भी जारी रखी जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन अवधि में प्रदेश सरकार द्वारा व्यापक स्तर पर कम्युनिटी किचन और शेल्टर होम सफलतापूर्वक संचालित किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि 14 दिन की संस्थागत क्वारंटीन अवधि पूरी करने के बाद होम क्वारंटीन के लिए घर जाने वाले लोगों के स्वास्थ्य की अनिवार्य रूप से जांच की जाए।

ये भी पढ़ें...लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन प्रशिक्षण देगा ‘वर्चुअल रिलायंस समर प्रोग्राम’

पीपीई किट सहित संक्रमण से सुरक्षा

साथ ही, होम क्वारंटीन के लिए भेजते समय पात्र व्यक्तियों को खाद्यान्न पैकेट भी उपलब्ध कराया जाए। अस्पतालों में संक्रमण से सुरक्षा के उपकरण निर्धारित मानक एवं गुणवत्ता के होने चाहिए। सीएम ने कहा कि अस्पतालों में एन-95 मास्क, पीपीई किट सहित संक्रमण से सुरक्षा के सभी उपकरण पर्याप्त मात्रा में अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराया जाए।

इस संबंध में प्रदेश के नगरीय निकाय क्षेत्रों में दैनिक रूप में कार्य कर जीवनयापन करने वाले व्यक्तियों के संबंध में सूचना मांगी गई है।

इसमे पटरी दुकानदारों, रिक्शा, इक्का व तांगा चालकों, टैम्पों, आटो, ई-रिक्शा चालकों, दैनिक दिहाड़ी मजदूर, मण्डियों में पल्ले दारी करने वाले, ठेलिया चलाने वाले तथा अन्य दैनिक कार्य करने वाले व्यक्तियों को भी शामिल किए जायेगा।

ये भी पढ़ें...यूपी में मचा तहलका: तेजी से जमातियों का संक्रमण जारी, इतना हुआ इजाफा

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story