×

शिक्षा विभाग में एंटी करप्शन ने पकड़ा भ्रष्टाचार, घूस लेते रंगे हाथ बाबू गिरफ्तार

एंटीकरप्शन की टीम ने बुधवार को भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। एंटीकरप्शन टीम ने बुधवार को उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में राठ खंड शिक्षाधिकारी कार्यालय में एक बाबू को घूस लेते रंगे हाथ पकड़ लिया।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 29 Jan 2020 3:01 PM GMT

शिक्षा विभाग में एंटी करप्शन ने पकड़ा भ्रष्टाचार, घूस लेते रंगे हाथ बाबू गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

हमीरपुर: एंटीकरप्शन की टीम ने बुधवार को भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। एंटीकरप्शन टीम ने बुधवार को उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में राठ खंड शिक्षाधिकारी कार्यालय में एक बाबू को घूस लेते रंगे हाथ पकड़ लिया। लिपिक को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार करके पुलिस के हवाले कर दिया है।

रुपये समेत पकड़े जाने पर लिपिक के हाथ पर पानी डाला गया तो रंग लाल होते ही रिश्वत लिये जाने की पुष्टि हुई है। जिलाधिकारी को अवगत कराने के साथ ही पुलिस ने के दर्ज कर लिया है।

राठ क्षेत्र के मुस्करा खुर्द गांव स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय में तैनात सहायक अध्यापिका मनीषा त्रिपाठी ने चिकित्सकीय अवकाश का वेतन पाने के लिए बेसिक शिक्षाधिकारी व जिलाधिकारी को आवेदन बेजा था।

यह भी पढ़ें...अमित शाह बोले, आपका एक वोट संदेश देगा आप शाहीन बाग के साथ या भारत माता के

खंड शिक्षाधिकारी कार्यालय में तैनात लिपिक परमेश्वरी दयाल पर आरोप है कि उसने अवकाश का वेतन पास कराने के एवज में शिक्षिका से 10 हजार रुपये की मांग की थी। शिक्षिका ने अनुरोध पर उसने दस हजार रुपये लेने की बात कही थी, जो बुधवार को कार्यालय में देनी थी।

यह भी पढ़ें...अभी-अभी बंगाल में भगदड़: ताबड़तोड़ चली गोलियां, दो की मौत

शिक्षिका ने इसकी शिकायत एंटी करप्शन झांसी में की। सूचना पर एंटी करप्शन टीम ने मामले की पहले जांच कराई और बुधवार को सात सदस्यीय टीम खंड शिक्षाधिकारी कार्यालय पहुंची। टीम द्वारा केमिकल लगे दस हजार रुपये शिक्षिका को दिए। शिक्षिका ने जैसे ही वो रुपये लिपिक को दिए तो टीम ने तत्काल उसे रंगे हाथ पकड़ लिया। लिपिक को कोतवाली लाकर हाथ पर पानी डालते ही रंग लाल हो गया।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story