Top

गरीबों का छीना हक: अब होगी अपात्रों पर कार्रवाई, सरकार ने शुरू की ये प्रक्रिया

अंत्योदय कार्डधारक को 35 किलो राशन (20 किलो गेहूं दो किलो प्रति और 15 किलो चावल तीन रुपये प्रति) की दर से दिया जा रहा है। कार्ड पर केरोसिन सस्ती दर पर अलग से दिया जाता है। जिले में 51506 अंत्योदय कार्डधारक हैं।

Suman

SumanBy Suman

Published on 24 Sep 2020 3:48 AM GMT

गरीबों का छीना हक: अब होगी अपात्रों पर कार्रवाई, सरकार ने शुरू की ये प्रक्रिया
X
जिन अपात्रों ने अब तक लाभ लिया है उनके खिलाफ भी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

औरैया : गरीबों के राशन पर डाका डालने वालों की अब खैर नहीं होगी। इसलिए शासन द्वारा एक नई रणनीति बना दी गई है। जिसमें अपात्रों के नाम काट कर पात्रों के नामों को शामिल किए जाने के लिए सूची तैयार है और जिन अपात्रों ने अब तक लाभ लिया है उनके खिलाफ भी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

मरे हुए लोगों के नाम पर राशन

बता दें कि जिले में 65 लोग मरे हुए लोगों के नाम पर राशन ले रहे हैं। वहीं एक सैकड़ा से अधिक संपन्न लोग गरीबों का निवाला छीन रहे हैं। इसका खुलासा आपूर्ति विभाग द्वारा अंत्योदय कार्डो के सत्यापन में हुआ है। अधिकारियों ने इन कार्डो के निलंबित की कार्रवाई शुरू कर दी है।

अंत्योदय कार्ड का सत्यापन

अंत्योदय कार्डधारक को 35 किलो राशन (20 किलो गेहूं दो किलो प्रति और 15 किलो चावल तीन रुपये प्रति) की दर से दिया जा रहा है। कार्ड पर केरोसिन सस्ती दर पर अलग से दिया जाता है। जिले में 51506 अंत्योदय कार्डधारक हैं। शासन ने अंत्योदय कार्ड कार्डो का सत्यापन के आदेश दिए थे। आपूर्ति विभाग ने सीडिंग के साथ सत्यापन कराया जिसमें 51506 में 23740 अंत्योदय कार्डो का सत्यापन हुआ है। जिसमें 304 अपात्र पाए गए। इनमें 146 आर्थिक रूप से संपन्न मिले। इनके पास दो से लेकर चार पहिया वाहन, कई मंजिला मकान कुछ के पास अच्छी खासी जमीन है।

यह पढ़ें...ब्लास्ट से दहला गुजरात: लगातार 3 धमाकों से हिली धरती, ONGC प्लांट मे बड़ा हादसा

rastion सोशल मीडिया से

वहीं 65 कार्ड धारक तो मर चुके हैं लेकिन कार्डो पर अन्न निकाला जा रहा है। कई अन्य कार्डधारक गांव से निकलकर शहर में शिफ्ट हो गए लेकिन गांव में उनके नाम से राशन उठ रहा है। रिपोर्ट जब विभागीय अधिकारियों के पास पहुंची तब तो इसे गंभीरता से लिया। इसके बाद 304 अपात्रों का नाम हटाकर उनके स्थान पर पात्रों का नाम शामिल कराने का कार्रवाई शुरू कर दी है।

अंत्योदय कार्डधारकों की संख्या

कुल कार्डधारक - 51506

अब तक सर्वे हुआ - 23740

आर्थिक रूप से सम्पन - 146

मृत्यु - 65

यह पढ़ें....रिया का बड़ा खुलासा: सुशांत ने इन लोगों का किया इस्तेमाल, करता था ये काम

अन्य कारण से अपात्र - 93

इस संबंध में प्रभारी जिला पूर्ति अधिकारी रामेंद्र सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि शासन से मिले आदेश के क्रम में 51506 अत्योदय कार्डधारकों में अब तक 23740 का सर्वे कराया जा चुका है। शेष का सर्वे का काम चल रहा है। जिसमें 304 अपात्र मिले हैं। इसमें 146 कार्डधारक सामने आए जिनके पास चार पहिया वाहन, खेती व कई मंजिला मकान थे। ऐसे अपात्रों का नाम हटाकर उनके स्थान पर पात्रों का चयन करके कार्ड जारी किए जा रहे हैं।

रिपोर्टर प्रवेश चतुर्वेदी औरैया

Suman

Suman

Next Story