Top

अवनीश अवस्थी की चेतावनी, ये किया तो नपेंगे अफसर

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने आईजीआरएस एवं सीएम हेल्पलाईन के लम्बित एवं डिफाल्टर प्रकरणों से सम्बन्धित सभी घोषणाओं पर कार्य पूरा करने को कहा है

Aradhya Tripathi

Aradhya TripathiBy Aradhya Tripathi

Published on 18 March 2020 4:11 PM GMT

अवनीश अवस्थी की चेतावनी, ये किया तो नपेंगे अफसर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने आईजीआरएस एवं सीएम हेल्पलाईन के लम्बित एवं डिफाल्टर प्रकरणों, विधानसभा एवं विधानपरिषद आश्वासन गृह विभाग से सम्बन्धित सभी घोषणाओं पर कार्य पूरा करने को कहा है। यह समीक्षा गृह विभाग के सचिव एवं विशेष सचिव गणों व सम्बन्धित कर्मचारियों के साथ की गई।

दूरभाष के ज़रिए किया जाए निस्तारण

आज लोकभवन स्थित कमान्ड सेंटर में गृह विभाग की साप्ताहिक समीक्षा बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह अवस्थी ने अधिकारियों से कहा कि आईजीआरएस एवं सीएम हेल्पलाईन के लम्बित एवं डिफाल्टर प्रकरणों को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारित करने की कार्यवाही की जाए। बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह ने कहा कि सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों के निस्तारण की गति कुछ जनपदों में धीमी चल रही है।

ये भी पढ़ें- किसानों को सरकार का बड़ा तोहफा, लाने जा रही ये योजना, जानिए इसके बारे में

उन्होंने कहा कि लम्बित एवं डिफाल्टर प्रकरणों के निस्तारण के लिए प्रदेश के जनपदों से सिर्फ पत्र व्यवहार न करते हुए जनपदों के सम्बन्धित अधिकारियों से दूरभाष के माध्यम से प्रकरणों को निस्तारण कराना सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने गृह विभाग के अधिकारियों से कहा कि प्रकरणों को बेवजह अपने स्तर पर लम्बित न रखा जाए बल्कि उसे समयबद्ध रूप से निस्तारित किया जाए। साथ ही स्पेशल सिक्योरिटी फोर्स, साईबर थाना, फारेंसिक लैब आदि के कार्यों में और अधिक गति लाने के निर्देश दिए।

नहीं बरती जाएगी कोई हीलाहवाली

अपर मुख्य सचिव गृह ने आईजीआरएस एवं सीएम हेल्पलाईन के लम्बित एवं डिफाल्टर प्रकरणों के त्वरित निस्तारण के लिए प्रदेश के जिलाधिकारियों एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों से कहा कि वे अपने जनपदों के लम्बित एवं डिफाल्टर प्रकरणों को व्यक्तिगत रूचि लेते हुए प्रकरणों के निस्तारण से अवगत कराएं।

ये भी पढ़ें- JIO की ई सिम सर्विस: नए Motorola razor के साथ मिलेगा ये धमाकेदार प्लान

उन्होंने कहा कि लम्बित एवं डिफाल्टर प्रकरणों के निस्तारण में किसी प्रकार की हीलाहवाली किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इस बात का अधिकारी विशेष ध्यान रखें।

Aradhya Tripathi

Aradhya Tripathi

Next Story