अयोध्या से बड़ी खबर: पूरे शहर को किया जा रहा सैनिटाइज, लगातार अलर्ट पर प्रशासन

अयोध्या नगर निगम ने टेलीमेडिसिन कम्युनिटी किचन के जरिये गरीबों, दैनिक मजदूरों और रिक्शा चालकों के खाते में 1000 रूपए भेज कर जनसेवा शुरू की है।

अयोध्या: पूरा देश लाकडाउन और कोविङ19 महामारी से जूझ रहा है। इस बीच अयोध्या नगर निगम ने टेलीमेडिसिन कम्युनिटी किचन के जरिये गरीबों, दैनिक मजदूरों और रिक्शा चालकों के खाते में 1000 रूपए भेज कर जनसेवा शुरू की है। इसके साथ ही मुफ्त दवा भोजन औरबेजुबानों के चारा भूसे की व्यवस्था स्वयं संस्थाओं के सहयोग से की जा रही है।

पूरे शहर में कराया जा रहा सैनिटाइजेशन

करोना बीमारी के संक्रमण को रोकने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मूल मंत्र सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करके जनता की सुविधाओं का जहां ध्यान दिया जा रहा है। वहीं एक अनूठी पहल करके सू सैनिटाइजेशन की व्यवस्था देकर कार्यालय को सरकार के निर्देशों के अनुसार चलाए जाने की जानकारी नगर आयुक्त डॉक्टर नीरज शुक्ला ने दी। जानकारी देते हुए डॉक्टर नीरज शुक्ला ने बताया कि संक्रमण को रोकने के लिए जुड़वा शहर फैजाबाद-अयोध्या के सभी वार्ड व नगर निगम की सीमा में आने वाले सभी स्थानों पर सैनिटाइजेशन का काम विशेष स्पींलर मशीनों और टैंकरो किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें-    500-500 रुपये जनधन खातों में आए, मोदी सरकार ने दिया सभी को तोहफा

गली मोहल्लों में सफाई कर्मियों द्वारा व्यापक पैमाने पर टीम लगाकर लगभग 48557 घरों में सैनिटाइजेशन का कार्य कराया जा चुका है। इसके साथ ही डोर टू डोर डिलीवरी और भूखे गरीबों को भोजन के 1500 पैकेट प्रति दिन बांटा जा रहा है। नगर निगम क्षेत्रों में सफाई कर्मियों की टीम द्वारा सफाई कराने के साथ गाड़ियों से कूड़ा उठाया जा रहा है। शुद्ध पेयजल की भी व्यवस्था की जा रही है।

रिक्शा चालकों और ठेले वालों के खाते में दिए जा रहे 1000 रूपए

इसके साथ ही मास्को व सेनीटाईजर भी जरूरतमंदों को बांटे जा रहे हैं। सड़क के किनारे लाइटों की प्रकाश व्यवस्था सुचारू से बढ़ाई जा रही है। फिलहाल राम नगरी में कोरोना वायरस का संक्रमण की स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। कार्य योजना के तहत अब तक 2803 गरीब रिक्शा चालक, खोमचे वाले, ठेले वालों के बैंक खातों में 1000 रूपए भेजे जा चुके हैं। नगर निगम द्वारा अपने ही परिसर से टेलिफोनिक ओपीडी चलाई जा रही है। जो 3:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक रहती है। जिसमें आम जनमानस मौजूद शहर के प्रतिष्ठित चिकित्सकों द्वारा चिकित्सीय परामर्श प्राप्त कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें-   लॉकडाउन में लोगों ने निकाली तलवार, जमकर चले लाठी डंडे, कई घायल

यह व्यवस्था नगर निगम होम विकास प्राधिकरण के संयुक्त प्रयास से चलाई जा रही है। अपर नगर आयुक्त सच्चिदानंद सिंह ने बताया लाक डाउन के बीच शहर में गंदगी काफी कम हुई है। जिसका कारण है कि पहले 120 टन कूड़ा प्रतिदिन निकलता था। वहीं लाकडाउन में लगभग 60 टन कूड़ा निकल रहा है। शहर को स्वच्छ बनाए रखने के लिए ताकि संक्रमण न पैदा हो इसके लिए नगर निगम द्वारा 116 टीमें आधुनिक उपकरणों से लैस होकर पूरे नगर निगम क्षेत्र को सैनिटाइजिंग कर रही हैं। साथ ही सफाई और फागिंग का कार्य चल रहा है।

नाथ बख्श सिंह