संचारी रोग नियंत्रण अभियान को सफल बनाने के लिए बैठक, DM ने दिए ये निर्देश

इस अभियान में आशा व आगनवाडी कार्यकत्री द्वारा विशेष संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण के बारे में जानकारी देकर लोगों को जागरूक करेंगी।

अयोध्या: संचारी रोग नियंत्रण अभियान के सफल संचालन हेतु अन्तर्विभागीय समन्वय समिति (जिला टास्क फोर्स ) की बैठक हुई। बैठक में अयोध्या मंडल के आयुक्त एमपी अग्रवाल ने मंडल के सभी जिलाधिकारियों को को निर्देश देते हुए कहा कि संचारी रोगों के नियंत्रण हेतु जनपद में 01 जुलाई से 31 जुलाई तक दस्तकध्संचारी रोग नियंत्रण अभियान चलाया जायेगा। इस अभियान में आशा व आगनवाडी ककार्यकत्री द्वारा विशेष संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण के बारे में जानकारी देकर लोगों को जागरूक करेंगी। तथा घरो में साफ-सफाई रखने, कूलरो व अन्य जगहो पर पानी न एकत्र होने देने से सम्बन्धित पोस्टर भी घरों पर चस्पा करेंगी।

जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को दिए निर्देश

अयोध्या जनपद के जिला अधिकारी अनूप कुमार झा ने संचारी रोग नियंत्रण के साथ कोविड-19 के संक्रमण से बचाव सम्बन्धी दिशा-निर्देशों का अनुपालन करने का आवाहन करते हुए कहा स्वयं को सुरक्षित रखते हुए सभी सम्बन्धित विभाग संचारी रोग नियंत्रण अभियान के अन्तर्गत किये जाने वाले कार्यों का सफल क्रियान्वयन सुनिश्चित करें। इसके लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को अन्तर्विभागीय समन्वय स्थापित करते हुए अभियान का सफल संचालन के लिए नोडल विभाग नामित किया गया है। जिला अधिकारी ने बताया कि इस वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण डेंगू ,चिकनगुनिया मलेरिया ,दिमागी बुखार के साथ-साथ कोरोना बचाव के बारे में भी प्रचार प्रसार किया जाये।

जिलाधिकारी ने बताया कि इस बार अभियान के प्रथम श्रेणी के कार्यकर्ताओं के साथ स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, एकीकृत बाल विकास योजना (आईसीडीएस), पंचायतीराज, शिक्षा विभाग, पशुपालन विभाग, चिकित्सा एवं शिक्षा विभाग आदि विभागों को भी उत्तरदायित्व सौपा गया है। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने नगर निगम को फाइलेरिया विभाग से समन्वय स्थापित करते हुए नगर निगम के क्षेत्र का माइक्रो प्लान तैयार करते हुए जल भराव वाले स्थानों पर लार्वीसाइड दवा का छिड़काव फागिंग एवं नालियों की सफाई को करने के निर्देश दिये।

ये भी पढ़ें-  कांग्रेस की मीटिंग में बोले नगर अध्यक्ष, जनता की आवाज को दबाना चाहती है सरकार

उन्होंने पंचायती राज्य विभाग, ग्राम विकास विभाग को प्रत्येक ग्राम में जल भराव वाले स्थानों पर लार्वी साइड दवा का छिडकाव एवं सफाई कर्मी व अन्य संसाधन द्वारा ग्राम की सफाई एवं वेक्टर जनित बीमारियो के बारे में एवं ग्राम में स्वास्थ्य विभाग से समन्वय स्थापित करते हुए फागिंग कराने एवं लोगों को जागरूक करने के निर्देश दिये।

इस बार स्कूलों में रैलियां नहीं निकाली जाएंगी- डीएम

पशुपालन विभाग सुअर पालकों की सूची बनाकर सुअर द्वारा फैलने वाले दिमागी बुखार के बारे में जागरूक करने एवं सुअर पालकों को सुअर बाड़ों की साफ-सफाई कीटनाशक छिड़काव एवं मच्छर रोधी जाली से ढकने हेतु प्रशिक्षित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अध्यापकगण व्हाट्सएप्प ग्रुप के माध्यम से बच्चों को वेक्टर जनित रोगों के बारे में जागरूक करें। जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण के चलते इस बार स्कूलों में रैलियां नही निकाली जायेंगी। बल्कि लाउडस्पीकर से प्रचार-प्रसार किया जाएगा। फ्रंट लाइन वर्कर्स घर-घर जायेंगे। किन्तु वे दरवाजे की कुण्डी आदि को हाथ से नहीं छुएंगे और न ही किसी के घर के भीतर जायेंगे, सिर्फ स्टीकर लगाकर सन्देश के माध्यम से लोगो को जागरूक करेंगे, गाँव में लार्वीसाइड दवा का छिड़काव किया जायेगा, शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रो में साथ ही साफ सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए।

ये भी पढ़ें-   सीएचसी का निरीक्षण करने पहुंचे नोडल अधिकारी, चिकित्सा अधीक्षक की लगा दी क्लास

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में कोरोना वायरस के संक्रमण में वृद्धि को ध्यान में रखते हुए कोविड 19 की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए शासन स्तर पर एक विशेष सर्विलांस अभियान संचालित करने का निर्णय लिया गया है। इस क्रम में पहला चरण जनपद अयोध्या में अभियान 05 जुलाई से 15 जुलाई तक संचालित किया जायेगा। जिसके अन्तर्गत 50-50 घरों पर एक-एक टीम (आँगनबाड़ी, ए0एन0एम0, आशा आदि की) लगायी जायेगी जो घर-घर जाकर सिम्प्टोमैटिक एवं को-मार्विड व्यक्तियों के सर्वेक्षण का कार्य करेगी।

ये भी पढ़ें-  कोविड-19 के परीक्षण के लिए बनी वायरोलॉजी प्रयोगशाला, ऐसे भी होगा कोरोना टेस्ट

उन्होंने बताया कि इसके सफल क्रियान्वयन एवं डाटा के आदान-प्रदान हेतु हर 05 टीम पर एक सुपरवाइजर को लगाया जायेगा। जनपद में लगभग 900 टीमें लगायी जायेंगी। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार , मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. घनश्याम सिंह, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 सी बी द्विवेदी, फाइलेरिया नियंत्रण अधिकारी डी के श्रीवास्तव, डीएचईआईओ, एपीडेमियोलाजिस्ट डॉ0 अरविंद श्रीवास्तव, डीपीएम राम प्रकाश पटेल, डीसीपीएम एवं सम्बंधित विभाग के अधिकारीगण उपास्थित रहे।

रिपोर्ट- नाथ बख्श सिंह