बढ़ापुर भाजपा विधायक कुंवर सुशान्त सिंहः राजनीति में न आते तो वकील होते

विधायक कहते हैं कि क्षेत्र की समस्या है तहसील बनवाने की क्योंकि एक तहसील में 300 गांव होते हैं जबकि तहसील धामपुर में 936 गांव हैं। अतः एक नई तहसील का निर्माण कराना। जिमकार्बेट पार्क कालागढ़ टुरिज्म बनाना जिससे वहां पर जो विदेशी चिड़िया आती हैं लोग उनको देख सकें।

BJP MLA Kunwar Sushant Singh with his son

साक्षात्कार भाजपा विधायक कुंवर सुशांत सिंह (फोटो सोशल मीडिया)

योगेंद्र शर्मा

बिजनौर की बढ़ापुर विधासभा सीट से भाजपा विधायक कुंवर सुशान्त सिंह का कहना है कि राजनीति में न आए होते तो वकालत करते यानी वकील बनकर जनता की सेवा करते। वह कहते हैं कि चुनाव महंगे उस व्यक्ति के लिए हैं जो क्षेत्र में कार्य नहीं कर रहा है, दूसरे विज्ञापनों के कारण भी चुनाव महंगे हो रहे हैं।

एक देश एक चुनाव हो

न्यूजट्रैक/अपना भारत से एक बातचीत में विधायक कुंवर सुशांत सिंह का कहना है कि चुनाव सुधार के लिए एक देश एक चुनाव होना चाहिए। इसके अलावा उनका मानना है कि जनता की अपेक्षा से कोई दिक्कत नहीं होती है जनता को अपने प्रतिनिधि से बार-बार काम के लिए कहना चाहिए और जनप्रतिनिधि को जनता की सेवा करनी चाहिए।

जनता से अपेक्षाओं के सवाल पर विधायक ने कहा मेरी अपेक्षा यह है कि जनता धर्म और जाति से ऊपर उठकर क्षेत्र के विकास के लिए अपने प्रतिनिधि का साथ दे और सोच समझकर चुनाव में बटन दबाये।

BJP MLA Kunwar Sushant Singh with Manoj Sinha

सवालों के जवाब में सुशांत सिंह कहते हैं कि खुशी का पल वह था जब मेरे यहां पुत्र हुआ। मेरे पास दुख का कोई पल नही। राजनीति के बाद जो समय बचता है उसे पूजा-पाठ में बिताता हूं।

भाजपा सिवा कहीं लोकतंत्र नहीं

विधायक ने कहा दलबदल अच्छा नहीं है सभी को अपनी पार्टी व अपने नेता में निष्ठा रखनी चाहिए। सिर्फ एक भारतीय जनता पार्टी में ही लोकतंत्र कायम है। माया, मुलायम-अखिलेश की पार्टियों व कांग्रेस पार्टी में कहीं लोकतंत्र नहीं है।

वह कहते हैं कि विधायक के तौर पर मैने 22 गाँव में 15-20 पाकिस्तानी शरणार्थी परिवारों को मालिकाना हक दिलवाया। सड़कों को ठीक कराया, ब्लाक निर्माण के लिए संस्तुति की क्योंकि बढ़ापुर ब्लाक सबसे बड़ा ब्लाक है।

BJP MLA Kunwar Sushant Singh with Siddharsthnath Singh

सुशांत सिंह कहते हैं कि विधायक निधि मददगार है जिससे छोटे -छोटे कार्य गाँव में कराकर जनता की समस्या दूर की जा सकती है तथा बारात घर, नल आदि क्षे़त्र में कार्य कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- नगीना से सपा विधायक मनोज पारसः राजनीति में न आते तो आईएएस होते

विधायक कहते हैं कि क्षेत्र की समस्या है तहसील बनवाने की क्योंकि एक तहसील में 300 गांव होते हैं जबकि तहसील धामपुर में 936 गांव हैं। अतः एक नई तहसील का निर्माण कराना। जिमकार्बेट पार्क कालागढ़ टुरिज्म बनाना जिससे वहां पर जो विदेशी चिड़िया आती हैं लोग उनको देख सकें।

अधिकारी वर्ग की समस्या पर वह कहते हैं कि यह तो जगजाहिर है भ्रष्ट अधिकारियों को हटाया जाना चाहिए तथा नौकरशाही को अपने स्तर से ठीक किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें- चांदपुर से भाजपा विधायक कमलेश सैनीः राजनीति में न आतीं तो समाजसेवा करतीं

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App