भारतीय किसान यूनियन ने राजधानी में किया प्रदर्शन, ये है उनकी कुछ मांगे

गन्ना रेट को लेकर भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) आज सात जगह तीन घंटे तक चक्का जाम करेगी। आज कहीं बाहर जाने का प्लान बना रहे हैं तो सुबह 11 बजे से पहले निकलें या फिर दोपहर दो बजे के बाद जाएं।

लखनऊ: गन्ना रेट को लेकर भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) आज सात जगह तीन घंटे तक चक्का जाम करेगी। आज कहीं बाहर जाने का प्लान बना रहे हैं तो सुबह 11 बजे से पहले निकलें या फिर दोपहर दो बजे के बाद जाएं। जाम को सफल बनाने के लिए भारतीय किसान यूनियन के नेता मंगलवार शाम तक गांवों में किसानों से संपर्क करते रहे।

ये भी देखें:यहां हुई भीषण गोलीबारी, पुलिस अधिकारी समेत कई लोगों की बिछ गई लाशें

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पिछले दो साल से गन्ना रेट नहीं बढ़ाए जाने पर भाकियू ने बुधवार को प्रदेश की सभी मुख्य सड़कों पर चक्का जाम करने का एलान किया है। भारतीय किसान यूनियन के पूर्व जिलाध्यक्ष गजेंद्र सिंह ने बताया कि सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक सात जगह तीन घंटे चक्का जाम किया जाएगा। इसमें संजय दौरालिया के नेतृत्व में एनएच-58 पर दौराला थाने के सामने। उनके और पूर्व जिला महासचिव सत्यवीर जंगेठी के नेतृत्व में दबथुआ गांव या गंगनहर नानू पुल पर। उदयवीर के नेतृत्व में मेरठ-पौड़ी मार्ग पर बहसूमा, शौसिंह के नेतृत्व में छोटा मवाना, हरेंद्र सिंह के नेतृत्व में बागपत रोड पर जानी में, विजयपाल घोपला के नेतृत्व में परतापुर बाईपास पर और रोहटा रोड स्थित कैथवाड़ी में चक्का जाम किया जाएगा।

सेना और एंबुलेंस वाहनों को रहेगी छूट

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने बताया कि पूरी गन्ना बेल्ट की सड़कों पर चक्का जाम किया जाना है। इस दौरान सेना, एंबुलेंस, बारात और स्कूली वाहनों को निकलने दिया जाएगा। बाकी वाहनों को तीन घंटे तक किसानों के समर्थन में रुकना होगा। भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता शांतिपूर्ण तरीके से चक्का जाम करेंगे।

ये भी देखें:WhatsApp ले आया ये नई चीज, ऐसे आपके काम में भी करेगा मदद

करते रहे जनसंपर्क

मंगलवार देर शाम तक भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता चक्का जाम की तैयारी करते रहे। संगठन महामंत्री संजय दौरालिया ने दर्जनों गांवों में दौरा कर किसानों से ज्यादा से ज्यादा संख्या में दौराला पहुंचने की अपील की। पूर्व जिलाध्यक्ष गजेंद्र सिंह, राजकुमार करनावल और सत्यवीर जंगेठी के अलावा हरेंद्र जानी और विजयपाल घोपला ने भी अपने-अपने क्षेत्र के गांवों में किसानों से संपर्क किया।

सुबह चार बजे ही किसान लखनऊ विधानसभा पहुंचे

योगी सरकार द्वारा पिछले दो साल से गन्ना रेट नहीं बढ़ाए जाने पर भारतीय किसान यूनियन ने बुधवार सुबह-सुबह लखनऊ विधानसभा घेराव करने की मंशा से लखनऊ पहुंचे, लेकिन पुलिस के सतर्क रहने से वह सफल नहीं हो सके।

आज सुबह चार बजे ही किसान लखनऊ विधानसभा पहुंचे लेकिन विधान भवन के सामने किसानों व विभिन्न संगठनों के धरना प्रदर्शन को देखते हुए आधी रात के बाद बैरिकेडिंग करके सड़क बंद की गई थी। किसानों का प्रदर्शन उग्र होते देख उन्हें तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने पानी की बौछारों का भी यूज़ किया।

ऐसा बताया जा रहा है कि कई प्रदर्शनकारी किसानों को बसों में भरकर पुलिस प्रदर्शनस्थल से बहुत दूर ले गई, वहीं कई को हिरासत में लिया गया है। भारतीय किसान यूनियन के मंडल अध्यक्ष हरिनाम वर्मा के नेतृत्व में किसानों ने देवा रोड जाम करके गन्ना और धान की होली जलाई।

ये भी देखें:फिर गिरा पाकिस्तान! यहां 14 साल की ईसाई लड़की के साथ जबरन हुआ ऐसा काम

गन्ना मंत्री का पुतला फूंका

सरकार द्वारा गन्ने के दाम में बढ़ोत्तरी न करने से किसानों में आक्रोश बना हुआ है। रालोद कार्यकर्ताओं ने गन्ने की पत्ती की होली जलाकर प्रदर्शन किया तो वहीं अखिल भारतीय किसान सभा कार्यकर्ताओं ने गन्ना मंत्री का पुतला फूंककर अपना आक्रोश जताया। बिजनौर और मुजफ्फरनगर दोनों शहरों में गन्ने की होली जलाई गई।