भाजपा की मंशा कुछ करने की नहीं महज टालने व गुमराह करने की: अखिलेश

सपा अध्यक्ष ने बुधवार को कहा कि हकीकत यह है कि सपा सरकार ने मथुरा के विकास के लिए जो योजनाएं शुरू की थीं, वो भी भाजपा सरकार में अधूरी छोड़ दी गई हैं। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में पशु पालन और दुग्ध उद्योग पर विशेष ध्यान दिया गया था। अमूल और पराग के नए प्लांट भोगनीपुर (कानपुर) वाराणसी और लखनऊ में और इटावा में मदर (डेयरी) प्लांट भी लगाया गया था।

Published by SK Gautam Published: September 11, 2019 | 10:00 pm
Modified: September 11, 2019 | 10:02 pm
अखिलेश यादव की फ़ाइल फोटो

अखिलेश यादव की फ़ाइल फोटो

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मथुरा दौरे पर तंज कसते हुए कहा है कि भाजपा की मंशा कुछ करने के बजाय महज टालने और गुमराह करने की ही रहती है। भाजपा सरकार ने मथुरा के विकास के लिए कुछ किया नहीं, पर अब वहां नई-नई बातें की जा रही है।

उन्होंने कहा कि यह बाते भाजपा सरकार के अब तक किए गए वादों की तरह वादें ही रहेंगे, जमीन पर उनके उतरने का इंतजार जनता अनन्तकाल तक करती रहेगी।

ये भी देखें : भारत की 10 बात! जानकर आपकी आंखे रह जायेंगी खुली की खुली

डेयरी उद्योग को बढ़ावा देने के लिए कामधेनु योजना शुरू की गई थी

सपा अध्यक्ष ने बुधवार को कहा कि हकीकत यह है कि सपा सरकार ने मथुरा के विकास के लिए जो योजनाएं शुरू की थीं, वो भी भाजपा सरकार में अधूरी छोड़ दी गई हैं। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में पशु पालन और दुग्ध उद्योग पर विशेष ध्यान दिया गया था। अमूल और पराग के नए प्लांट भोगनीपुर (कानपुर) वाराणसी और लखनऊ में और इटावा में मदर (डेयरी) प्लांट भी लगाया गया था। डेयरी उद्योग को बढ़ावा देने के लिए कामधेनु योजना शुरू की गई थी। भाजपा राज में कामधेनु योजना ठंडे बस्ते में चली गई।

सपा मुखिया ने कहा कि सपा शासनकाल में मथुरा में सबसे ऊंचा चंद्रोदय मंदिर बनना था जिसका शिलान्यास तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी और उन्होंने स्वयं किया था जो जीएसटी का शिकार हो गया है।

वृंदावन में तीन नई कृषि मंडियों का निर्माण समाजवादी सरकार के समय हुआ

मथुरा-गोवर्धन, मथुरा-सौंरव और सौंरव-गोवर्धन एवं गोवर्धन-बरसाना नंदगांव कोकला वन और केसी तक 4 लेनमार्ग, गोवर्धन बाईपास, कोसी गोवर्धन से डीग बार्डर सौंख-कुम्हेर बार्डर वृंदावन मल्टीलेवल पार्किंग, मछली फाटक पुल, यमुना पुल, वृंदावन केसी घाट पर यमुना जी के घाटों का निर्माण कार्य, रिवरफ्रंट का सौंदर्यीकरण, कान्हा आश्रय सदन तथा मयूर नृत्य अकादमी, गोवर्धन परिक्रमा मार्ग का सौंदर्यीकरण, वृंदावन टूरिस्ट फैसलिटी सेंटर, गोवर्धन आईटीआई कालेज का निर्माण और राधाकुण्ड गोवर्धन में पानी निकासी के लिए नाला निर्माण जैसे कार्य प्रस्तावित थे जो भाजपा सरकार में बीच में ही रोक दिए गए हैं। गोवर्धन राजा वृंदावन में तीन नई कृषि मंडियों का निर्माण समाजवादी सरकार के समय हुआ।

ये भी देखें : फिर हरा करना चाहते हैं बाटला इनकाउन्टर का जख्म, जानिए पूरी कहानी

उन्होंने कहा कि भाजपा का काम सपना दिखाना हैं समाजवादी जमीनी हकीकत के लिए काम करते हैं। ढाई वर्ष में भाजपा सरकार ने मथुरा में एक पाई भी नहीं खर्च की। भाजपा सरकार की इन घोषणाओं का हाल मेधावी छात्रों को दिए गए ‘चेक‘ के बाउंस हो जाने जैसा होगा।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App